Share this


  • हिंदी समाचार
  • अंतरराष्ट्रीय
  • आर्मेनिया और अजरबैजान ने रविवार को एक नए युद्धविराम समाचार और अपडेट फोटो स्टोरी का उल्लंघन करते हुए एक-दूसरे पर आरोप लगाए

येरेवन19 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

यह फोटो अजरबैजान के तैमूर जलीगोव की है, जो अपनी 10 महीने की बेटी नारिन के शव को गोद में लिए हैं। नागोर्नो-कराबाख क्षेत्र पर आर्मेनिया और अजरबैजान के बीच जारी युद्ध के बीच एक युद्ध उनके घर पर गिरा दिया गया, जिसमें नारिन और उनकी मां सेविल सहित अन्य रिश्तेदारों की मौत हो गई।

आर्मेनिया और अजरबैजान ने रविवार को विवादित इलाके नागोर्नो काराबाख में एक-दूसरे पर संघर्ष विराम के उल्लंघन का आरोप लगाया। शनिवार रात 12 बजे से दोनों देश नागोर्नो-काराबाख क्षेत्र में संघर्ष विराम लागू करने के लिए तैयार हुए थे। बीबीसी के मुताबिक, आर्मेनियाई रक्षा मंत्रालय ने दावा किया है कि अजरबजान ने शनिवार रात 12 बजे संघर्ष विराम लागू होने के चार मिनट बाद ही तोप के गोले और पत्थर दागे।

मंत्रालय की प्रवक्ता शुशन स्टीफन ने ट्वीट किया- हमारे दुश्मन ने उत्तर की ओर से 12.04 से 2.45 बजे (स्थानीय समय) तक तोप के गोले दागे और दक्षिणी दिशा में 2.20-2.45 बजे तक तोप दागी। अजरबजान ने रविवार को नागोर्नो-करबाख के दक्षिण में हमला किया। दोनों ओर के लोग मारे गए हैं।

शनिवार को अजरबैजान के राष्ट्रपति इल्हाम अलीयेव ने आर्मेनिया पर आरोप लगाते हुए कहा था कि उन्होंने अजरबजान में दो हजार से ज्यादा घरों को नुकसान पहुंचाया है।

नागोर्नो काराबाख को लेकर जंग जारी

पिछले महीने से ही विवादित क्षेत्र को लेकर दोनों देशों में लड़ाई जारी है। कई देश नागोर्नो काराबाख को अजरबैजान का हिस्सा मानते हैं, जबकि इस पर आर्मेनियाई लोगों का कब्जा है। इस जंग में दोनों ओर से अब तक छह सौ से ज्यादा जानें जा चुकी हैं। आइए देखते हैं, जंग से जुड़ी कुछ दर्दनाक तस्वीरें …

यह फोटो अजरबैजान के गांजा शहर की है। आर्मेनिया के पैनल हमले में इलाके में कई घर पूरी तरह ध्वस्त नजर आ रहे हैं। इस बीच रेस्क्यू टीम आरक्षण अभियान में जुटी है।

यह फोटो अजरबैजान के गांजा शहर की है। आर्मेनिया के पैनल हमले में इलाके में कई घर पूरी तरह ध्वस्त नजर आ रहे हैं। इस बीच रेस्क्यू टीम आरक्षण अभियान में जुटी है।

इस फोटो में 67 साल की रेजि गुलुयेवा गांजा शहर में हुए हमले में खंडहर बने अपने घर के ऊपर खड़ी नजर आने लगी हैं।

इस फोटो में 67 साल की रेजि गुलुयेवा गांजा शहर में हुए हमले में खंडहर बने अपने घर के ऊपर खड़ी नजर आने लगी हैं।

गांजा शहर में शनिवार को हुए हमले के बाद मरने वाले बच्चों और लोगों को याद करते हुए टेडी ब्र और फोटोज रखी गईं।

गांजा शहर में शनिवार को हुए हमले के बाद मरने वाले बच्चों और लोगों को याद करते हुए टेडी ब्र और फोटोज रखी गईं।

नागोर्नो काराबाख क्षेत्र में अजरबैजान के हमले में ध्वस्त अपने घर के पास खड़ी महिला हैं। इस हमले में सैकड़ों लोग मारे गए हैं।

नागोर्नो काराबाख क्षेत्र में अजरबैजान के हमले में ध्वस्त अपने घर के पास खड़ी महिला हैं। इस हमले में सैकड़ों लोग मारे गए हैं।

इस फोटो में रॉयल साहनगरोवा के रिश्तेदार नजर आ रहे हैं। गांजा शहर में हुए हमले का साहनौरोव की पत्नी जुलेया साहनजारोवा और उनकी बेटी मेदिनी साहनाजोरवा मारे गए थे।

इस फोटो में रॉयल साहनगरोवा के रिश्तेदार नजर आ रहे हैं। गांजा शहर में हुए हमले का साहनौरोव की पत्नी जुलेया साहनजारोवा और उनकी बेटी मेदिनी साहनाजोरवा मारे गए थे।

यह फोटो अजरबैजान के गांजा शहर की एमीना अलीयेवा की है, जिनके पेट पर हमले का घर ध्वस्त हो गया। वे अपने घर के एंट्रेस गेट पर खड़ी होकर रोती नजर आ रहे हैं।

यह फोटो अजरबैजान के गांजा शहर की एमीना अलीयेवा की है, जिनके पेट पर हमले का घर ध्वस्त हो गया। वे अपने घर के एंट्रेस गेट पर खड़ी होकर रोती नजर आ रहे हैं।

अजरबजान के गांजा शहर में रेस्क्यू में जुटे सुरक्षाबल। अजरबैजान के राष्ट्रपति इल्हाम अलीयेव ने आर्मेनिया पर आरोप लगाते हुए कहा था कि उनके हमले में हमारे दो हजार से ज्यादा घरों को नुकसान पहुंचा है।

अजरबजान के गांजा शहर में रेस्क्यू में जुटे सुरक्षाबल। अजरबैजान के राष्ट्रपति इल्हाम अलीयेव ने आर्मेनिया पर आरोप लगाते हुए कहा था कि उनके हमले में हमारे दो हजार से ज्यादा घरों को नुकसान पहुंचा है।

शनिवार को गांजा शहर में हुए हमले का एक परिवार के पांच सदस्यों की मौत हो गई। दोनों देशों में जारी जंग के बीच एक विवाद उनके घर से टकरा गया। उनकी तस्वीरों के साथ फैमिली मेंबर।

शनिवार को गांजा शहर में हुए हमले का एक परिवार के पांच सदस्यों की मौत हो गई। दोनों देशों में जारी जंग के बीच एक विवाद उनके घर से टकरा गया। उनकी तस्वीरों के साथ फैमिली मेंबर।

गांजा शहर में रेस्क्यू करते सुरक्षाबल। शनिवार रात 12 बजे से आर्मेनिया और अजरबैजान संघर्ष विराम लागू करने के लिए तैयार हुए थे। हालांकि, आर्मेनिया ने दावा किया था कि अजरबजान ने संघर्ष विराम तोड़ते हुए तोप के गोले और आभूषण दागे।

गांजा शहर में रेस्क्यू करते सुरक्षाबल। शनिवार रात 12 बजे से आर्मेनिया और अजरबैजान संघर्ष विराम लागू करने के लिए तैयार हुए थे। हालांकि, आर्मेनिया ने दावा किया था कि अजरबजान ने संघर्ष विराम तोड़ते हुए तोप के गोले और आभूषण दागे।





Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *