Share this


  • 19 अक्टूबर 2018 को धोबी घाट ग्राउंड में आयोजित दशहरा मेला देखने वाली भीड़ को रौंदते हुए निकल गया था
  • तत्कालीन कमिश्नर बी पुरुषार्थ के नेतृत्व वाली कमेटी 6 पुलिस वालों और 7 नगर निगम कर्मचारियों को रोका गया है आरोपी
  • अब लगभग 21 महीने बाद रिटायर्ड जज अमरजीत सिंह कटारी ने अपनी रिपोर्ट पंजाब सरकार को भेज कड़ी सजा की सिफारिश की

दैनिक भास्कर

Jul 03, 2020, 09:22 PM IST

अमृतसर। अमृतसर रेल हादसे से जुड़ी बड़ी खबर सामने आई है। रिटायर्ड जज अमरजीत सिंह कटारी ने अपनी रिपोर्ट पंजाब सरकार को भेज दी है। लगभग 21 महीने की जांच के बाद इस रिपोर्ट में नगर निगम के चार अधिकारियों को आरोपी बताया गया है। रिपोर्ट में इन आरोपियों का प्रकरण दंड देने की सिफारिश की गई है। जस्टिस कटारी ने इन सभी आरोपियों से 15 दिन में अपनाकरण देने के लिए कहा है। अगर इस दौरान आरोपियों ने अपनी जवाब सरकार को नहीं भेजा तो समझा जाएगा कि वह अपने बचाव में कुछ नहीं कहना चाहते हैं।

दरअसल, अमृतसर में 19 अक्टूबर 2018 को जोड़ा फाटक के पास स्थित धोबीघा में आयोजित दशहरा महोत्सव को देखने के लिए हजारों की भीड़ जुटी थी। ग्राउंड में जगह कम होने की वजह से भीड़ रेलवे ट्रैक पर खड़ी हो मेले का आनंद ले रही थी, लेकिन एक एक त्यौहार की खुशी चीख-पुकार में बदल गई। हुआ यूं कि एक डीएमयू ट्रेन मेला देखने वाली भीड़ को रौंदती हुई निकल गई। इस हादसे में 65 लोगों की मौत हो गई थी, वहीं बहुत सारे लोग जख्मी हो गए थे।
मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने धार्मिकता जांच के आदेश दिए थे, वहीं रेलवे ने भी अपने लेवल पर घटना की जांच करवाई। जालंधर बलजन के कमिश्नर बी पुरुषार्थ के नेतृत्व में जांच कमेटी ने जांच के बाद रिपोर्ट में 6 पुलिस वालों और अमृतसर नगर निगम के 7 अफसरों के खिलाफ चार्जशीट की सिफारिश की थी।
अब शुक्रवार को इसी मामले में लगभग 21 महीने बाद रिटायर्ड जज अमरजीत सिंह कटारी ने अपनी रिपोर्ट पंजाब सरकार को भेज दी है। रिपोर्ट में नगर निगम के चार अधिकारियों को आरोपी बताया गया है। रिपोर्ट में इन आरोपियों को कड़ी सजा देने की सिफारिश की गई है। वहीं जस्टिस कटारी ने इन सभी आरोपियों से 15 दिन में अपनाकरण देने के लिए कहा है। अगर इस दौरान आरोपियों ने अपनी जवाब सरकार को नहीं भेजा तो समझा जाएगा कि वह अपने बचाव में कुछ नहीं कहना चाहते हैं। इन सभी निगम अधिकारियों पर ड्यूटी के दौरान लापरवाही से काम करने के आरोप हैं।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *