Share this


एक दिन पहले

मेल से पास 60 लाख वोटों में 34 लाख वोट ट्रम्प के विरोधी बाइडेन को जाते दिख रहे हैं। (फाइल फोटो)

  • इस पद्धति के अनुसार 2016 तक महज 14 लाख लोगों ने केवल वोट डाला था
  • 5 राज्यों मिनिसोटा, साउथ डकोटा, वर्मांट, वर्जिनिया और विस्कॉन्सिन में 2016 की तुलना में 20% वोट पड़े हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में अब तक 1.3 करोड़ लोग अपना वोट डाल चुके हैं। 3 नवंबर को वोटिंग का आखिरी दिन है। विक यूनिवर्सिटी के पॉलिटिकल साइंटिस्ट माइकल मैक्डोनल्ड ने विभिन्न राज्यों के डेटा का विश्लेषणिसिस कर अध्ययन किया। यह डेटा जारी किया।]उनका कहना है कि बुधवार तक 1,30,15,675 लोग वोट डाल चुके हैं। इनमें से लगभग 60 लाख लोगों ने मेल के जरिए वोट डाला। बाकी ने बैलेट के जरिए वोटिंग की है।

5 राज्यों में 2016 की तुलना में 20% अधिक मतदान हुआ

2016 तक महज 14 लाख लोगों ने ही वोट डाला था। यानी इस बार पिछले चुनावों की तुलना में अब तक 10 गुना वोट पड़ चुके हैं। 5 राज्यों मिनिसोटा, साउथ डकोटा, वर्मांट, वर्जीनिया और विस्कॉन्सिन में 2016 की तुलना में 20% ज्यादा वोट पड़े हैं। अंतिम मतदान से पहले बढ़ते मतदान की वजह कोरोना है, जो लोगों को सुरक्षित मतदान करने के लिए प्रेरित किया है।

अमेरिका में मतदाता मेल और केंद्रीय बूथ पर जाकर बैलेट के जरिए अंतिम वोटिंग से दो महीने पहले वोट डाल सकते हैं। सामान्य तौर पर बुजुर्ग, सैन्य कर्मचारी और विदेशों में रहने वाले अमेरिकी ही मेल से वोटिंग की सुविधा का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन इस बार कोरोना महामारी को देखते हुए राज्यों ने इस नियम को लचीला किया है।

34 राज्यों के लोग उचित कारण बताए बिना मेल से वोटिंग कर सकते हैं। सात राज्यों में मेल से मतदान करने के लिए वाजिब कारण बतानी होगी। नौ राज्यों और इलेक्ट्रॉनिक्सटन के का प्रशासन सभी शेल्टर को मेल बैलेट भेज रहा है। यानी यहां के वोटर को मेल से वोटिंग करने के लिए आवेदन भी नहीं करना पड़ेगा।

मेल से 60 लाख वोट मिले

पत्र रुझान के मुताबिक मेल से पास 60 लाख वोटों में 34 लाख वोट ट्रम्प के विरोधी बाइडेन को जाते दिख रहे हैं। लेकिन स्टडी के मुताबिक बहुत संभव है कि ट्रम्प समर्थक बो पर ताकत दिखाएंगे।





Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *