Share this


  • कोरोनावायरस महामारी के कारण यूरोप में सिंथेटिक ड्रग्स का प्रोडक्शन और डिस्ट्रीब्यूशन बंद हो गया है
  • आईएस अपनी आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए धन जुटाने के लिए एम्फीटेम बैंक ड्रग बनाता है

दैनिक भास्कर

Jul 02, 2020, 09:35 AM IST

रोम। इटली की पुलिस ने बुधवार को 8454 करोड़ रु। (1.12 बिलियन डॉलर) की एम्फीटेम सेल ड्रग बच की है। पुलिस के मुताबिक, यह दुनिया का सबसे बड़ा ड्रग कंसाइमेंट है, जिसे पकड़ा गया है। इसे सीरिया में इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों ने बनाया है।

इटली की जांच एजेंसी गुआर्डिया डी फिनाज़ के मुताबिक, पुलिस ने सालेर्नो शहर में तीन शिपिंग आतंकवादियों को पकड़ा। इसमें 8454 करोड़ रु। ियां 8.4 करोड़ से ज्यादा गोलियां थीं ।। पुलिस ने बुधवार को बताया कि इसका कुल वजन 15 टन से ज्यादा था।

जांच एजेंसी के मुताबिक, ड्रग्स को बेहद चालाककी से छिपाया गया था। पुलिस को ड्रग्स मामले में चल रहा है एक केस के जरिए इसकी जानकारी मिली थी। इसी आधार पर पुलिस ने यह पता लगाया कि ड्रग्स को कहां ले जाना जा रहा था।

यूरोप में ड्रग्स आई के सहयोगियों को भेजे गए थे

आईएस अपनी आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए धन जुटाने के लिए एम्फीटेम बैंक ड्रग बनाता है। वहाँ, अलग-अलग जगह मौजूद अपने सहयोगियों के माध्यम से इसे अन्य देशों में उपलब्ध है। पुलिस का मानना ​​है कि ड्रग्स पूरे यूरोप में मौजूद अन्य आपराधिक समूहों को भेजे गए थे।

महामारी के चलते यूरोप में ड्रग्स का प्रोडक्शन बंद हो गया

पुलिस ने कहा कि कोरोनावायरस महामारी के कारण यूरोप में सिंथेटिक ड्रग्स का प्रोडक्शन और डिस्ट्रीब्यूशन बंद हो गया है। इस कारण से आपराधिक समूहों ने सीरिया का रुख किया है। अधिकारियों का कहना है कि यह संभव है कि ड्रग्स का और अभी तक रास्ता में ही हो या इससे पहले कंसाइनमेंट न पकड़ा गया हो।

ये भी पढ़ें

फाइनेंशियल एक्सन टास्क फोर्स ने कहा- लश्कर और जैश जैसे आतंकी संगठनों की फंडिंग रोकने में पाक कला, ग्रे लिस्ट में ही रहेगी।





Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *