Share this


PATNA : पीएम मोदी की कुल संपत्ति 30 जून, 2020 को बढ़कर 2.85 करोड़ रुपये हो गई है. साल 2019 के मुकाबले इसमें 36 लाख रुपये की बढ़त हुई है. गौरतलब है कि अब और कैबिनेट मंत्रियों सहित प्रधानमंत्री द्वारा भी एसेट की घोषणा करना अनिवार्य हो गया है. गृह मंत्री अमित शाह को शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव से उन्हें नुकसान हुआ है. पिछले साल पीएम मोदी की संपत्ति 2.49 करोड़ रुपये की थी. ऐसे समय में जब अर्थव्यवस्था की हालत खराब है और शेयर बाजार में भी उतार-चढ़ाव रहता है. पीएम मोदी की संपत्ति कैसे बढ़ गई यह हर कोई जानना चाहेगा. असल में पीएम मोदी की संपत्ति खासकर बैंकों और कई अन्य कई सुरक्षित साधनों में करीब निवेश से बढ़ी है. बैंकों से उन्हें 3.3 लाख रिटर्न मिला है तो अन्य साधनों से 33 लाख रुपये का.

इस साल जून के अंत तक पीएम मोदी के पास नकदी सिर्फ 31,450 रुपये की थी. उनके पास गांधी नगर में भारतीय स्टेट बैंक के NSC ब्रांच की एसबीआई खाते में 3,38,173 रुपये जमा हैं. इसी खाते के एफडीआर और एमओडी में उनके 1,60,28,939 रुपये जमा हैं. उन्होंने डाक विभाग की नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (NSC) में करीब 8,43,124 रुपये जमा कर रखे हैं. उन्होंने जीवन बीमा पॉलिसी में 1,50,957 रुपये और टैक्स सेविंग्स इन्फ्रा बॉन्ड में 20,000 रुपये लगा रखे हैं. इस तरह उनकी चल संपत्ति करीब 1.75 करोड़ रुपये है. प्रधानमंत्री ने कोई लोन नहीं लिया है. उनके पास अपने नाम से कोई व्यक्तिगत गाड़ी नहीं है. उनके पास करीब 45 ग्राम की सोने की चार अंगूठियां हैं जिनकी कीमत करीब 1.5 लाख रुपये है. उनके पास जॉइंट ओनरशिप में गांधीनगर के सेक्टर-1 में करीब 3531 वर्ग फुट का एक प्लॉट है. यह चार लोगों के संयुक्त नाम में है और बाकी तीन अन्य लोगों की हिस्सेदारी 25-25 फीसदी है. यह प्रॉपर्टी 25 अक्टूबर 2002 को खरीदी गई थी, नरेंद्र मोदी के गुजरात के मुख्यमंत्री बनने से ठीक 2 महीने पहले. तब इसकी लागत सिर्फ 1.3 लाख रुपये थी. अब प्रधानमंत्री की कुल अचल सं​पत्ति की कीमत 1.10 करोड़ रुपये हो गई है.

गृह मंत्री अमित शाह एक धनी गुजराती परिवार से आते हैं. लेकिन शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव से उन्हें नुकसान हुआ है. जून 2020 तक अमित शाह की घोषित संपत्ति 28.63 करोड़ रुपये की है. पिछले साल बीजेपी अध्यक्ष के रूप में उन्होंने अपनी संपत्ति 32.3 करोड़ रुपये घोषित कर रखी थी. अमित शाह के पास 10 अचल संपत्तियां हैं. इनमें से कोई भी गुजरात से बाहर नहीं है. उन्हें अपनी मां से विरासत में 13.56 करोड़ रुपये की संपत्ति मिली है. वे भारत की सबसे धनी पार्टी के अध्यक्ष रहे हैं, लेकिन उनके पास सिर्फ 15,814 रुपये की नकदी है. उनके बैंक खातों में 1.04 करोड़ रुपये, बीमा और पेंशन पॉलिसी में 13.47 लाख रुपये, एफडी में 2.79 लाख रुपये हैं. उनके पास करीब 44.47 लाख रुपये की ज्वैलरी है. पिछले साल की तुलना में उनकी संपत्ति में आई कमी मुख्यत: उनके पास रहे शेयरों में गिरावट की वजह से आई है. उनके पास विरासत में 12.10 करोड़ रुपये की प्रतिभूतियां (शेयर आदि) और उन्होंने खुद 1.4 करोड़ रुपये की प्रतिभूतियों में निवेश किया है. इस तरह इस साल 31 मार्च तक उनके पास कुल 13.5 करोड़ रुपये की प्रतिभूतियां थीं, जबकि पिछले साल इनकी कीमत 17.9 करोड़ रुपये की थीं. शाह के पास 15.77 लाख रुपये की देनदारी भी है.

शाह की पत्नी सोनल अमित शाह का नेटवर्थ भी पिछले साल के 9 करोड़ रुपये की तुलना में गिरकर इस साल सिर्फ 8.53 करोड़ रुपये रह गया. उनके पास रखे ​प्रतिभूतियों की बाजार कीमत 4.4 करोड़ रुपये से घटकर 2.25 करोड़ रुपये रह गई. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की संपत्ति में पिछले साल के मुकाबले ज्यादा बदलाव नहीं हुआ है. उनके पास 1.97 करोड़ रुपये की चल संपत्ति और 2.97 करोड़ रुपये की अचल संपत्ति है. उनके पास शेयर बाजार, एलआईसी या पेंशन पॉलिसी में कोई निवेश नहीं है.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *