Share this


  • हिंदी समाचार
  • अंतरराष्ट्रीय
  • आर्मेनिया ने लड़ाई के एक सप्ताह के मध्य में आवासीय क्षेत्रों पर रॉकेट हमला किया, अजरबैजान ने कहा कि हम अपने सैन्य मामलों को लक्षित करेंगे

बाकू / येरेवनएक घंटा पहले

  • कॉपी लिस्ट

रविवार रात हुए हमले के बाद टूटे घरों के मलबे के पास मौजूद अजरबजान के कर्मचारी। हमला गंजा शहर पर किया गया था।

  • आर्मेनिया ने अजरबैजान पर हमला किया था, कहा- अजारबजान हमारे बारे में झूठी बातें फैला रहा है
  • आर्मेनिया और अजरबैजान के बीच 29 सितंबर को विवादित इलाके नागोर्नो-कारबाख को लेकर युद्ध शुरू हुआ था।

एक से जारी जंग के बीच आर्मेनिया ने रविवार को अजरबैजान के रिहायशी इलाकों पर दागबंदी की। देश के दूसरे सबसे बड़े शहर गंजा पर हुए हमले में एक नागरिक की मौत हो गई और चार लोग घायल हो गए। हमले के हमले पर अजरबजान ने नाराजगी जाहिर की है। अजरबजान के राष्ट्रपति के सलाहकार हिकमत हजियेव ने कहा- हम सीधे आर्मेनिया के मिलिट्री ठिकानों को निशाना बनाएंगे, जहां से हमारे देश के लोगों को निशाना बनाया जा रहा है।

अब तक जंग अजरबैजान और नागोर्नो कारबाख के समूहों के बीच हो रही थी। हालांकि, अब यह लड़ाई अजरबैजान और आर्मेनिया की मिलिट्री के बीच शुरू हो सकती है। इस बीच, आर्मेनिया ने अजरबजान पर हमला किया है। आर्मेनिया ने कहा है कि अजरबैजान हमारे बारे में झूठी बातें फैला रहा है।

आर्मेनिया ने हमले से इनकार किया

नागोर्नो-कारबाख के गुटों ने कहा है कि हमने गंजा शहर में एक एयरबेस को निशाना बनाकर हमला किया था। आम लोगों को इससे नुकसान नहीं हो सकता इसलिए बाद में हमने हमला रोक दिया। तुर्की ने अजरबैजान के रिहायशी इलाकों पर हुए हमले की निंदा की है।

इस जंग में तुर्की ने अजरबजान का साथ देने का ऐलान किया है। आर्मेनिया और रूस के बीच मिलिट्री प्रतिबद्धता है। बावजूद इसके रूस ने किसी देश का पक्ष नहीं लिया है। रूस लगातार दोनों देशों के बीच शांति कायम करने की कोशिश कर रहा है।

लड़ाई का कारण क्या है?
पूर्व सोवियत संघ के इन दोनों देशों के बीच नागोर्नो-कारबाख इलाके को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा है। इंटरनेशनल लेवल पर यह इलाका अजरबैजान का हिस्सा माना जाता है, हालांकि आर्मेनिया भी इस पर दावा करता है। 1994 की लड़ाई के बाद से यह इलाका अजरबजान के नियंत्रण में नहीं है।

इस क्षेत्र में दोनों देशों के सैनिक तैनात हैं। लगभग 4,400 किलोमीटर में फैला नागोर्नो-कारबाख का ज्यादातर हिस्सा पहाड़ी है। पिछले साल जुलाई में भी दोनों देशों के बीच इसको लेकर झड़प हुई थी। इसमें 16 लोगों की मौत हुई थी।





Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *