Share this


  • यूपी एसटीएफ ओमप्रकाश और अनिल पांडे को गिरफ्तार कर लिया गया है, 8 पुलिसकर्मियों की हत्या में शामिल 2 आरोपियों को राहत देने का आरोप

दैनिक भास्कर

Jul 11, 2020, 12:46 PM IST

ग्वालियर। यूपी के कु प्रसिद्ध गैंगस्टर विकास दुबे के दो मददगारों को यूपी एसटीएफ ग्वालियर से 9 जुलाई की रात उठा ले गया है। इसका खुलासा आज सुबह उसवक्त हुआ जब कानपुर एसटीएफ ने इसकी सूचना ग्वालियर पुलिस को दी। यूपी एसटीएफ ओमप्रकाश और अनिल पांडे को गिरफ्तार कर लिया गया है। ओमप्रकाश, शशिकांत पांडे के बड़े भाई हैं। शशिकांत यूपी एसटीएफ के एनकाउंटर में हिट जा चुका है।

बताया जा रहा है कि 2 जुलाई को कानपुर के सलारू गांव में पुलिसकर्मियों की हत्या के समय शशिकांत का बेटा भी शामिल था। घटना के बाद वह अपने एक साथी के साथ भागकर ग्वालियर के बहोड़ापुर इलाके की भगत सिंह कॉलोनी में रहने वाले अपने चाचा के यहाँ आ गया था। इसके बाद यहां से दोनों फरार हो गए। ओमप्रकाश की पत्नी ने बताया कि उनका परिवार 20 से ज्यादा समय से ग्वालियर में रह रहा है। उनके पति ओमप्रकाश यहां एक फैक्ट्री में नौकरी करते हैं। 9 जुलाई की शाम लगभग 6.30 बजे यूपी एसटीएफ आई और पति और बेटे अनिल को अपने साथ ले गई।

ओमप्रकाश की पत्नी और बेटी ने कहा कि उनके परिवार का शशिकांत पांडे से काई संबंध नहीं है। शशिकांत कभी नहीं आए और न ही हम उनके घर गए। हमारी पैतृक संपत्ति जरूर एक साथ हैं। इसलिए ओमप्रकाश जरूर कभी-कभार सलारू जाते थे। ओमप्रकाश की पत्नी ने बताया कि जेठ शशिकांत एनकाउंटर में मारे गए हैं, भतीजा फरार है। पुलिस को संदेह है कि वह यहाँ आया था। लेकिन ऐसा कुछ नहीं है।

10 साल पहले भी विकास की गिरफ्तारी हुई थी

हालांकि इस मामले में अभी तक ग्वालियर पुलिस ने किसी तरह की जानकारी नहीं दी है। सूत्रों का कहना है कि कानपुर पुलिस से अभी तक केवल जानकारी मिली है। बताया जा रहा है कि विकास दुबे का बकवलियर में ओमप्रकाश और अनिल के यहां रहता है। विकास दुबे को उत्तर प्रदेश की पुलिस ने करीब 10 साल पहले ग्वालियर से गिरफ्तार कर लिया गया था।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *