Share this


PATNA : एक दिन पहले तक बिखराव की कगार पर खड़ा महागठबंधन में सीट बंटवारे की डील फाइनल हो गई है और इसको लेकर आज संयुक्त प्रेस वार्ता भी की जा सकती है. लेकिन, राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (Bihar NDA) के बीच अब भी जिच बरकरार है. खास तौर पर जनता दल यूनाइटेड और लोक जनशक्ति पार्टी (JDU and LJP) के बीच काफी तल्खी है. वहीं अब खबर ये है कि बीजेपी-जेडीयू (BJP-JDU) के बीच भी सबकुछ सही नहीं कहा जा सकता है. दरअसल एनडीए में सीट शेयरिंग को लेकर मामला अब भी उलझा हुआ है और अब जदयू और बीजेपी आमने सामने आ गई है. बीजेपी, जेडीयू के बराबर सीटों पर लड़ने की बात कह रही है तो जेडीयू भी अपने स्टैंड से झुकने को तैयार नहीं है.

बता दें कि सीटों का फॉर्मूला तय करने के लिए बुधवार की रात पटना पहुंचे बिहार भाजपा प्रभारी भूपेंद्र यादव और चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणडवीस शुक्रवार की शाम दिल्ली लौट गए. इससे पहले शुक्रवार को उनकी बातचीत जदयू नेतृत्व से नहीं हुई. पटना में वे दोनों अपने ही दल के नेताओं से बातचीत करते रहे, लेकिन कोई फॉर्मूला नहीं निकलता देख दोनों दिल्ली लौट गए. इस बीच बड़ी खबर ये भी है कि चिराग पासवान के रुख को लेकर जेडीयू में भारी नाराजगी है. सीएम नीतीश के 7 निश्चय योजना को बकवास बताने पर पार्टी नेताओं में गुस्सा है. दरअसल शुक्रवार को एलजेपी की ओर से नीतीश सरकार के सात निश्चय एजेंडा को भ्रष्टाचार का पिटारा बताया गया. पार्टी के आधिकारिक बयान में कहा गया कि एलजेपी बिहार सरकार के एजेंडे सात निश्चय के कार्यक्रम को नहीं मानती है.

लोजपा के प्रवक्ता अशरफ अंसारी द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि सात निश्चय के सारे काम अधूरे हैं. जिन लोगों ने भी इस योजना के काम किए उनके पैसों का भुगतान तक नहीं हुआ है. बयान में कहा गया है कि इस योजना की हकीकत बिहार के गांवों में देखी जा सकती है.लोजपा ने सात निश्चय को भ्रष्टाचार का पिटारा बताते हुए कहा कि लोजपा अगली सरकार में ‘बिहार फर्स्ट, बिहारी फर्स्ट’ विजन डाक्यूमेंट को लागू करेगी.
हालांकि लोजपा के बयान के बाद जेडीयू की ओर से कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं आई है, लेकिन यह माना जा रहा है कि भले ही एनडीए में मीटिंग पर मीटिंग हो रही है, लेकिन अब तक सब कुछ ठीक नजर नहीं आ रहा है. बता दें कि इसी क्रम में लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने आज दिल्ली में पार्टी की संसदीय बोर्ड की बैठक बुलाई है. लोजपा की यह बैठक बैठक शाम 5 बजे होगी, जिसमें सीट बंटवारे के फार्मूले पर भी चर्चा हो सकती है. यहां यह भी तय होगा कि बिहार विधानसभा चुनाव में पार्टी राजग के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी या फिर अकेले. जाहिर है एनडीए के लिए आज का दिन बेहद अहम है. वैसे भाजपा और जदयू दोनों तरफ से ये दावे किया जा रहे हैं कि एनडीए एकजुट है और सीट बंटवारे के फॉर्मूले को जल्द अंतिम रूप दे दिया जाएगा.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *