Share this


PATNA : ट्रेनों में सफर करने वाले यात्रियों से जुड़ी अहम खबर। रेलवे पुरानी पारंपरिक कोचों के बदले अब एलएचबी कोच के साथ ही ट्रेनें चलाएगी। एक-एक कर इंटरसिटी समेत लंबी दूरी की सभी ट्रेनों को एलएचबी कोच से लैस किया जाएगा। इसके साथ ही लंबी दूरी की ट्रेनों में स्लीपर कोच घट जाएंगे। पारंपरिक कोच वाली ट्रेनों में 10 से 11 स्लीपर कोच लगते हैं। एलएचबी के साथ चलने वाली ट्रेनों में सात स्लीपर डिब्बे ही लगेंगे। नई व्यवस्था से थर्ड एसी के यात्रियों को राहत मिलेगी। उनके लिए छह कोच बढ़ जाएंगे। रेलवे बोर्ड ने एलएचबी कोच के साथ ट्रेन चलाने को लेकर दिन में चलने वाली इंटरसिटी, प्रीमियम ट्रेनें और नॉन प्रीमियम ट्रेनों का मानकीकरण तय कर दिया है। इसे लेकर सभी जोनल रेलवे को आदेश भी जारी कर दिया गया है। बोर्ड से जारी आदेश में 120 दिन बाद शुरू होने वाली बुकिंग में नई व्यवस्था बहाल करने को कहा गया है।

किस ट्रेन में कितने कोच
दिन में चलने वाली प्रीमियम ट्रेन
चेयर कार – 14
एग्जीक्यूटिव चेयर कार – 2
पावर कार – 2
दिन में चलने वाली नॉन प्रीमियम ट्रेन
एसी चेयर कार – 2
सेकंड सिटिंग चेयर कार – 12
जनरल कोच – 4
पावर कार – 1
गार्ड/लगेज वैन – 1

लंबी दूरी की प्रीमियम ट्रेन
थर्ड एसी – 12
सेकंड एसी – 5
फस्र्ट एसी – 2
पैंट्री कार – 1
पावर कार – 2

लंबी दूरी की नॉन प्रीमियम ट्रेन
स्लीपर – 7
थर्ड एसी – 6
सेकंड एसी – 2
जनरल – 4
पैंट्री कार – 1
पावर कार – 1
गार्ड/लगेज वैन – 1

फिर लागू होगी पैंट्री कार की खान पान सेवा
22 मार्च से ट्रेन बंद है। एहतियात के तौर पर इससे पहले से ही ट्रेनों में पैंट्री कार के जरिए मिलने वाली खानपान सेवा बंद कर दी गई थी। वर्तमान में चल रही स्पेशल ट्रेनों में खानपान सेवा बहाल नहीं की गई हैं। पर, आगामी दिनों में पैंट्री कार से खानपान सेवा फिर शुरू होने की पूरी संभावना है। रेलवे बोर्ड ने एलएचबी कोच के मानकीकरण के साथ पैंट्री कार को भी शामिल किया है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *