Share this


  • पायलट समर्थक 24 विधायकों ने पार्टी छोड़ी तो भाजपा भी 14 अन्य विधायकों की जरूरत होगी
  • वर्तमान में कांग्रेस के 107 विधायक हैं, उनके अलावा गेहलोत को 13 निर्दलीय और एक आरएलडी विधायक का समर्थन है

दैनिक भास्कर

Jul 12, 2020, 09:44 PM IST

जयपुर। रेज में सियासी उठापटक तेज हो गया है। कहा जा रहा है कि सचिन पायलट खेमे के 24 कांग्रेसी विधायक मानेसर और गुड़गांव के होटलों में ठहरे हैं। उनका फोन भी बंद बताए जा रहे हैं। पायलट भी दिल्ली में डेरा जमाए हुए हैं। माना जा रहा है कि गेहलोत से नाराज चल रहे पायलट पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलकर अपनी बात रख सकते हैं। सुलह का रास्ता नहीं निकला तो पश्चिमी गेहलोत सरकार के लिए मुश्किल खड़ी कर सकते हैं।

अगर मध्य प्रदेश की कहानी राजस्थान में भी दोहराई जाती है और पश्चिमी समर्थक विधायक विधायकी छोड़ देते हैं तो गहलोत सरकार अल्पमत में आ जाएंगे। आइए जानते हैं कि वर्तमान में विधानसभा का क्या गणित है। किन स्थितियों में यलोत सरकार सरकार में आ सकती है।

रेटेड के सियासी हलचल से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें …
1। सिंधिया-पड़ोसी की दोस्ती और सियासी हालात? / पायलट के साथ 15 विधायक, क्या नाराज में भी रिपाई जा सकती है मध्य प्रदेश की कहानी?

2। रेटेड सरकार सोशल मीडिया पर ट्रोल / एक यूजर ने लिखा- क्या सचिन पायलट अगले सिंधिया होंगे, दूसरा बोला- आत्मनिर्भर बनिए गहलोतजी!

3। रेटेड के सियासी घमासान पर ग्राउंड रिपोर्ट / मंत्री-विधायकों का मुख्यमंत्री आवास पर आना जारी; एसओजी के नोटिस पर सीएम बोले- यह सामान्य प्रक्रिया है, अन्यथा न लें





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *