Share this


मध्य प्रदेश के उज्जैन महाकाल मंदिर से पकड़ा गया दुर्दांत अपराधी विकास दुबे शुक्रवार को कानपुर में उत्तर प्रदेश एसटीएफ के साथ एनकाउंटर में मारा गया। इस एनकाउंटर पर सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने सवाल उठाते हुए कहा कि दरअसल ये कार नहीं पलटी है, राज खुलने से सरकार पलटने से बचाई गई है। उन्होंने यह बात ट्वीट करके कही। अखिलेश के अलावा मायावती प्रियंका गांधी, दिग्विजय सिंह समेत अन्य नेताओं ने भी इस एनकाउंटर को लेकर प्रतिक्रिया दी हैं। मायावती ने इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में निष्पक्ष जांच की मांग की है।

मुठभेड़ में विकास दुबे की मौत पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा, ‘ कानपुर पुलिस हत्याकांड की तथा साथ ही इसके मुख्य आरोपी दुर्दान्त विकास दुबे को मध्यप्रदेश से कानपुर लाते समय आज पुलिस की गाड़ी के पलटने व उसके भागने पर यूपी पुलिस द्वारा उसे मार गिराए जाने आदि के समस्त मामलों की माननीय सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। यह उच्च-स्तरीय जांच इसलिए भी जरूरी है ताकि कानपुर नरसंहार में शहीद हुए 8 पुलिसकर्मियों के परिवार को सही इंसाफ मिल सके। साथ ही, पुलिस व आपराधिक राजनीतिक तत्वों के गठजोड़ की भी सही शिनाख्त करके उन्हें भी सख्त सजा दिलाई जा सके। ऐसे कदमों से ही यूपी अपराध-मुक्त हो सकता है।
प्रियंका गांधी की प्रतिक्रिया

विकास दुबे के एनकाउंटर पर कांग्रेस की नेता प्रियंका गांधी ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि अपराधी का अंत हो गया, अपराध और उसको संरक्षण देने वाले लोगों का क्या?
मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा की प्रतिक्रिया

मुठभेड़ में विकास दुबे की मौत पर मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, ‘ कानून ने अपना काम किया है। अफसोस और मातम की बात उन लोगों के लिए होगी जो कल उसके पकड़ने जाने पर कह रहे थे कि जिंदा क्यों पकड़ लिया? आज मर गया तो कह रहे हैं कि मर कैसे गया कई राज दफन हो गए। मध्य प्रदेश की पुलिस ने अपना काम किया,उसे गिरफ्तार करके यूपी पुलिस के हवाले कर दिया।’
जिसका शक था वह हो गया- दिग्विजय

मध्य प्रदेश से कांग्रेस के राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने इसे लेकर कहा, ‘ जिसका शक था वह हो गया। विकास दुबे का किन किन राजनैतिक लोगों से, पुलिस व अन्य शासकीय अधिकारियों से उसका संपर्क था, अब उजागर नहीं हो पाएगा। पिछले 3-4 दिनों में विकास दुबे के 2 अन्य साथियों का भी एनकाउंटर हुआ है, लेकिन तीनों एनकाउंटर का पैटर्न एक समान क्यों है?
न रहेगा बांस, न बजेगी बांसुरी- प्रियंका चतुर्वेदी, जानें तेजप्रताप यादव ने क्या कहा

शिवसेना की नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा, ‘न रहेगा बांस, न बजेगी बांसुरी। राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD)के नेता तेजप्रताप यादव ने कहा कि सरकार को पलटने से बचाने के लिए कार का पलटना जरूरी था।
RLD के नेता जयंत चौधरी का बयान

मुठभेड़ में विकास दुबे की मौत को लेकर राष्ट्रीय लोक दल (RLD) के नेता जयंत चौधरी ने कहा, ‘विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद देश के सारे न्यायाधीशों को इस्तीफा दे देना चाहिए। भाजपा के ठोक दो राज में अदालत की जरूरत ही नहीं है! 8 पुलिसकर्मियों के हत्या के असली अपराधियों को बचाने के लिए ये सब ड्रामा रचा गया है!
कानून का डर अच्छा है- गौरव भाटिया

मुठभेड़ में विकास दुबे की मौत पर भाजपा नेता गौरव भाटिया ने कहा कि एक बात तो तय है कि योगी आदित्यनाथ जी की सरकार में कानून का राज होगा और गुंडों को बख्शा नहीं जाएगा। कानून का डर अच्छा है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *