Share this


PATNA : राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग पर जोर दिया जाएगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने संक्रमित लोगों से संपर्क में आए हाई रिस्क कांटेक्ट वाले लोगों की पहचान के लिए स्वास्थ्य विभाग अभियान चलाने का आदेश दिया है ताकि अधिक से अधिक लोगों की टेस्टिंग की जा सके। सोमवार को आईपीआरडी सचिव अनुपम कुमार ने यह जानकारी दी। आईपीआरडी सचिव ने बताया कि यह भी तय किया गया है कि हाई रिस्क कॉन्टैक्ट वाले लोगों का हर हाल में सैंपल टेस्ट किया जाएगा।

राज्य में अब प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भी ऑन डिमांड टेस्टिंग की सुविधा उपलब्ध हो गई है। जिस किसी को भी लगता है कि उनकी तबीयत थोड़ी खराब है या उनमें संक्रमण जैसे लक्षण दिख रहे हैं तो वह इन केंद्रों पर जाकर जांच करा सकते हैं। सभी सरकारी अस्पतालों में कोविड-19 के मरीजों को गुणवत्तापूर्ण चिकित्सीय सुविधा मुहैया कराने पर जोर दिया जा रहा है। स्वास्थ्य सचिव लोकेश कुमार सिंह ने बताया कि जांच तेजी के साथ बढ़ाई जा रही है। 24 घंटे में 14236 लोगों के सैंपल की जांच की गई है।

अपर पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) जितेन्द्र कुमार ने बताया कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों और मास्क नहीं पहनने वाले के खिलाफ सख्ती बरती जा रही है। पुलिस ने पिछले 24 घंटे के दौरान 12152 लोगों पर 6 लाख 7 हजार 600 रुपए जुर्माना लगाया। इस तरह 5 जुलाई से अब तक मास्क नहीं पहनने के आरोप में 1 लाख 20 हजार 210 लोगों से जुर्माना वसूला जा चुका है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *