Share this


PATNA : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने विगत 12 अक्टूबर से आधिकारिक रूप से बिहार विधानसभा चुनाव के लिए कैंपेन शुरू कर दिया. लेकिन, अपने पहले ही संबोधन में जिस तरह से उन्होंने बिहार के विकास को लेकर अपनी लाचारगी दिखाई इससे विरोधियों को हमला करने का मौका मिल गया. दरअसल, सीएम नीतीश कुमार ने बिहार की भौगोलिक स्थिति को प्रदेश के विकास में बाधा बताते हुए कहा कि चारों तरफ से हम लोग घिरे हुए हैं. ज्यादा बड़े उद्योग समुद्र के किनारे के राज्यों में लगते हैं. हम लोगों ने तो बहुत कोशिश की पर बड़े उद्योगपति बिहार नहीं आए. सीएम नीतीश की इन्हीं बातों को आधार बनाते हुए अब लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान (LJP President Chirag Paswan) ने सीएम नीतीश पर हमला बोला है. चिराग ने कहा कि कुछ भी हो जाए इस बार नीतीश को सीएम नहीं बनने देंगे.

चिराग ने कहा, पहली ही रैली में मुख्यमंत्री जी बोल रहे हैं कि हमने तो बहुत कोशिश कर ली. बिहार में तो उद्योग लग ही नहीं सकते. नीतीश कुमार कह रहे हैं कि बिहार समुद्र से नहीं घिरा है, इसलिए यहां उद्योग-धंधे नहीं हैं. लेकिन, बिहार इकलौता राज्य नहीं है, जो लैंड लॉक्ड है, बल्कि दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, झारखंड, हिमाचल, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, असम जैसे राज्य भी हैं, जो चारों तरफ से जमीन से ही घिरे हुए हैं. इन राज्‍यों में से कई में बिहार के मुकाबले ज्‍यादा फैक्ट्रियां हैं. लोजपा अध्यक्ष ने कहा कि नीतीश कुमार के मुख्यमंत्री रहते विकास होना या बिहार का विकसित होना संभव नहीं है. प्रदेश की जनता ने उन्हें 15 साल दिए. डेढ़ दशक के बाद भी अगर आज भी हमें नली-गली पर ही बात करनी है, या आज भी अगर हमें इन्‍हीं बातों पर गौर करना कि भैया मेरे घर के आगे चापाकल गड़ गया, मेरे घर के सामने एक सड़क बन गई, तो मुझे लगता है कि हमारे मुख्यमंत्री जी को विकास के मापदंड जानने की जरूरत है कि दुनिया कहां पहुंच गई है.

एलजेपी चीफ ने कहा, सीएम नीतीश आज बात करते हैं कि आपके घरों और खेतों में बिजली पहुंचाएंगे. बिहार हमारा कृषि प्रधान राज्य है, बिजली अभी तक पहुंच जानी चाहिए थी. सिंचाई सुविधाएं अभी तक हर खेत में हर गांव तक पहुंच जानी चाहिए थी. हकीकत यह है कि दुनिया और देश अलग मापदंड पर विकास की बातें करते हैं तो मेरे लिए यह बात चिंता का विषय बनती है कि 15 साल में जो चीजें नहीं हो पाईं, अगर मेरी वजह से या मेरे समर्थन से पूर्व मुख्यमंत्री जी को 5 साल और मिलते हैं तो मैं अपने आपको कभी माफ नहीं कर पाउंगा. चिराग ने दिवंगत पिता रामविलास पासवान की कही बातों का जिक्र करते हुए कहा, पापा कह रहे थे कि अगर तुम्हारी वजह से माननीय मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश के मुख्यमंत्री बन गए तो आज से 10 साल 15 साल के बाद तुम अपने आप को कभी माफ़ नहीं कर पाओगे कि तुम्हारी वजह से प्रदेश 5 साल और पीछे चला गया. चिराग ने यह भी कहा कि ये सारी बातें उनके पिता ने बीजेपी नेता व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय एवं रामकृपाल यादव के साथ ही भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहनवाज हुसैन को भी कही थी. चिराग ने कहा कि आज की तारीख में नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार का विकसित होना मुमकिन नहीं है. पिताजी को भी मेरी तरह इस बात का एहसास था. अब मैं भी मानता हूं कि हमारे मुख्यमंत्री का विजन कहीं ना कहीं सेचुरेशन लेवल पर है और वह बिहार में विकास और उनकी बातों से भी दिखती है. चिराग ने कहा की सीएम अक्सर अपनी बातों को कहते हैं कि हमसे जितना हुआ हमने किया. मतलब इससे ज्यादा वह कर नहीं सकते. वह खुद ही इस बात को मान रहे हैं.

चिराग ने कहा कि बिहार के लैंड लॉक्ड प्रदेश होने की बात कह कर सीएम बता रहे हैं कि प्रदेश का औद्योगिक विकास संभव नहीं है. बिहार जैसी ही भौगोलिक स्थितियों वाला पंजाब और हरियाणा विकसित हो सकता है तो बिहार को लेकर सीएम क्यों ऐसा कहते हैं कि यहां इंडस्ट्रीज नहीं आ सकती है. इस बात को स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि प्रदेश के युवा इस बात को समझें कि जब मुख्यमंत्री के पास विकास का कोई विजन ही नहीं तो अगले 5 साल का मौका क्यों दिया जाए? चिराग पासवान के इस हमले पर जदयू कार्यकारी अध्यक्ष अशोक चौधरी ने पलटवार करते हुए कहा कि जो अपने चुनाव प्रचार में नीतीश जी को ले गया हो, उनकी तारीफ की हो, उनकी नल-जल योजना की तारीफ की हो, तो फिर चार महीने में ऐसा क्या हो गया कि आप नीतीश के विरोध में बोलने लगे. उनकी महत्वाकांक्षा कितनी बढ़ गयी है, यह चिराग पासवान को बताना चाहिए. तेजस्वी के नीतीश कुमार को नालंदा से चुनाव लड़ने के लिए चैलेंज करने पर जदयू नेता ने कहा कि हम भी ट्रम्प को चैलेंज कर सकते हैं, इसमें कौन बड़ी बात है.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *