Share this


  • हिंदी समाचार
  • अंतरराष्ट्रीय
  • कोरोनावायरस नॉवेल Corona Covid 19 8 अक्टूबर | कोरोनावायरस नॉवेल कोरोना कोविद 19 समाचार विश्व मामलों उपन्यास कोरोना कोविद 19

वॉशिंगटनएक घंटा पहले

  • कॉपी लिस्ट

बुधवार को बर्लिन के एक रेस्टोरेंट में बैठे कस्टमर। शनिवार से यहां बार-बार और रेस्टोरेंट बंद हो जाएंगे। ऐसा 70 साल में पहली बार होगा। यूरोप के तीन देशों जर्मनी, फ्रांस और स्पेन में संक्रमण की दूसरी लहर घातक साबित हो रही है।

  • दुनिया में 10.60 लाख से ज्यादा लोगों की मौत, 2.74 करोड़ से ज्यादा लोग अब स्वस्थ
  • अमेरिका में 77.76 लाख लोग, 2.16 लाख से ज्यादा लोग जानते हैं

दुनिया में आयतों का आंकड़ा 3.63 करोड़ से ज्यादा हो गया है। ठीक होने के मरीजों की संख्या 2 करोड़ 74 लाख 08 हजार 529 से ज्यादा हो गई है। मरने वालों का आंकड़ा 10.60 लाख के पार हो चुका है। ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के कहते हैं। यूरोप के ज्यादातर देशों में संक्रमण की दूसरी लहर परेशानी का सबब बन गया है। फ्रांस के बाद स्पेन और अब जर्मनी में हालात खराब होते जा रहे हैं। बर्लिन में तो 70 साल बाद पहली बार नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है।

जर्मनी: सख्त प्रतिबंधों का जोर
जर्मनी की राजधानी बर्लिन में सरकार ने सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। 70 साल में पहली बार यहां नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। हमेशा गुलज़ार रहने वाला बर्लिन शहर अब शांत नज़र आ रहा है। शनिवार से यहां रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक किसी भी तरह की कारोबारी गतिविधियां नहीं होंगी। बार और रेस्टोरेंट्स पूरी तरह से बंद रहें। इसका उल्लंघन करने वालों के लाइसेंस रद्द कर दिए जाएंगे। स्वास्थ्य मिनिस्ट्री का कहना है कि देश में संक्रमण की दूसरी लहर चल रही है और पार्टी में शामिल होने वाले लोग इसका खतरा बढ़ा रहे हैं। यहां किसी भी हाल में पांच से ज्यादा लोग एक जगह नहीं जुटेंगे। अकेले बर्लिन में हर रोज लगभग 45 लोग पॉजिटिव मिल रहे हैं। इसके बाद सख्ती का फैसला लिया गया।

WHOO: यूरोप को
डब्ल्यूएचओ ने यूरोप में संक्रमण की दूसरी लहर को लेकर चिंता जाहिर की है। संगठन के मुताबिक, यहां साइंस के अलावा भी कुछ उपाय करने की जरूरत है ताकि संक्रमण पर काबू पाया जा सके। डब्ल्यूएचओ के यूरोप प्रभारी हेन्स क्लग ने कहा- जो डेटा मिल रहा है वह वास्तव में चिंता में डालने वाला है। हम सिर्फ विज्ञान से हालात में सुधार नहीं कर सकते। लोगों को साहस से काम लेना होगा। लोगों को अपने व्यवहार में बदलाव लाना होगा। कम्युनिटी लेवल पर लोगों को जागरूक करना होगा ताकि वे अपनी जिम्मेदारियों को बेहतर तरीके से निभा सकें। स्पेन, फ्रांस और ब्रिटेन में हालात खराब होने के कारण हैं।

यूरोप में संक्रमण की दूसरी लहर चल रही है। स्पेन में भी बहुत ज्यादा है। यहां मैड्रिड में सरकार ने बार और रेस्तरां बंद कर दिए हैं। बुधवार को लोगों ने इसका विरोध करते हुए प्रदर्शन किया।

यूरोप में संक्रमण की दूसरी लहर चल रही है। स्पेन में भी बहुत ज्यादा है। यहां मैड्रिड में सरकार ने बार और रेस्तरां बंद कर दिए हैं। बुधवार को लोगों ने इसका विरोध करते हुए प्रदर्शन किया।

टीवी: यहां हालात बेहतर हैं
ब्लूमबर्ग में पब्लिश एक रिपोर्ट के मुताबिक, संक्रमण पर काबू पाने के मामले में न्यूजीलैंड अब तक सबसे प्रबंधित देश रहा है। यहां की सरकार ने बेहतरीन काम किया और दुनिया के बड़े बिजनेस लीडर्स भी इस बात को मान रहे हैं। इतना ही नहीं ये लोग यहाँ इन यमुनेंट प्लान भी कर रहे हैं। यहां इकोनॉमिक रिकवरी रेट भी दूसरे देशों से बहुत बेहतर है। इसके लिए जो इंडेक्स रेटिंग जारी की गई है, उसमें न्यूयॉर्क को 238, जापान को 204 और ताइवान को 198 नंबर दिए गए हैं। अमेरिका 10 वें नंबर पर है। रिपोर्ट के मुताबिक, जेसिंद अर्डर्न की सरकार ने इतना बेहतर काम किया है कि वे दूसरे चुनाव जीत सकते हैं।

न्यूयॉर्क के वेलिंग्टन शहर के एक रेस्तरां में मौजूद कस्टमर। ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि कोविड -19 से सामना के मामले में चीन सबसे कामयाब रहा। (फाइल)

न्यूयॉर्क के वेलिंग्टन शहर के एक रेस्तरां में मौजूद कस्टमर। ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि कोविड -19 से सामना के मामले में चीन सबसे कामयाब रहा। (फाइल)

जिम: क्लैम एरिया फोकस पर
ब्राजील में मंगलवार को कुल 41 हजार 906 नए मामले सामने आए। 11 सितंबर के बाद यह एक दिन में सामने आया नए रोगियों का सबसे बड़ा आंकड़ा है। स्वास्थ्य मिनिस्ट्री ने एक बयान में यह जानकारी दी है। इसी तरह 819 लोगों की मौत भी हुई। इसके साथ ही मरने वालों का आंकड़ा 1 लाख 47 हजार 494 हो गया है। जिम सरकार ने कहा है कि देश में संक्रमण की दूसरी लहर मानकर कार्रवाई की तैयारी की जा रही है। सरकार का ध्यान मुख्य रूप से पेटम क्षेत्र में है। यहां संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। हालांकि, सख्त लॉकडाउन जैसे उपायों के इस्तेमाल से सरकार ने इनकार कर दिया है।





Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *