Share this


PATNA : कोरोनावायरस स्प्रेड को लेकर चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. 38 देशों के 293 वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि हवा से भी यह घातक वायरस लोगों के बीच फैलता है. इन वैज्ञानिकों ने विश्व स्वास्थ्य संगठन कै पत्र लिखकर इसके बारे में बताया है. वैज्ञानिकों ने अपने पत्र में कहा है कि वायरस हवा में मौजूद हैं, जिससे यह लोगों के बीच फैल सकता है. इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार इन 38 देशों के 3239 वैज्ञैानिकों ने पत्र में चेताया है कि हवा के कण के कारण भी लोग संक्रमित हो रहे हैं. वैज्ञानिकों ने कहा कि कोरोना वायरसहवा में अधिक देर तक रह सकती है, ऐसे में संभावना है कि इससे लोग अधिक से अधिक संख्या में संक्रमित हो. साथ ही लोग सफर कर कर के एक दूसरे को भी संक्रमित कर दें. 239 वैज्ञानिकों के इस दावे के बाद माना जा रहा है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन कोरोना वायरस को लेकर अपनी गाइडलाइन में बदलाव करे. अभी तक जो गाइडलाइन का आधार है उसके मुताबिक कोरोना एक संक्रमिक से दूसरे में ही फैल सकता है. वहीं पत्र लिखने वाले एक वैज्ञानिक ने कहा कि हम इस दावे को लेकर 100 फीसदी आश्वस्त हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के सर्वाधिक 24,850 नए मामले सामने आने के साथ ही कोविड-19 के कुल मामलों की संख्या 6,73,165 हो गई है. पिछले 24 घंटे में इस महामारी से 613 और लोगों की मौत के साथ रविवार को मृतक संख्या 19,268 हो गई। देश में लगातार तीसरे दिन संक्रमण के 20,000 से अधिक नए मामले सामने आए हैं. वहीं, वायरस के प्रसार को काबू करने के मद्देनजर असम और कर्नाटक जैसे राज्य चुनिंदा जगहों पर लॉकडाउन के साथ ही प्रतिबंधों को सख्ती से लागू कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, असम, गुजरात, मध्य प्रदेश, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में एक ही दिन में सर्वाधिक मामले सामने आए हैं. कोरोना वायरस से सबसे बुरी तरह प्रभावित महाराष्ट्र में संक्रमितों का आंकड़ा दो लाख के पार चला गया जबकि तमिलनाडु में यह संख्या 1.11 लाख और दिल्ली में भी एक लाख के करीब पहुंच गयी है.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *