Share this


PATNA : महागठबंधन छोड़ने वाले जीतन राम मांझी को अपने दम पर एनडीए में एंट्री दिलाने वाले नीतीश कुमार आज मांझी के लिए खुद चुनाव प्रचार करने पहुंचे. गया के इमामगंज विधानसभा सीट पर जीतन राम मांझी के लिए नीतीश कुमार ने चुनावी जनसभा को संबोधित किया. इस दौरान इमामगंज की जनता के सामने नीतीश ने यह राज खोला कि मांझी विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ना चाहते थे. लेकिन उन्होंने जबरदस्ती उन्हें चुनाव मैदान में उतरने को कहा.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अब जब जीतन राम मांझी चुनाव मैदान में हैं तो यह जनता की जिम्मेदारी है कि वह मेरी प्रतिष्ठा को बचाएं. नीतीश कुमार ने इमामगंज के लोगों से अपील की कि वह उनकी लाज रखें और जीतन राम मांझी को जितवा कर विधानसभा भेजें. आपको बता दें कि जीतन राम मांझी के मुकाबले आरजेडी की तरफ से नीतीश कुमार के ही पुराने सहयोगी रहे उदय नारायण चौधरी मैदान में है. यहां उदय नारायण चौधरी और जीतन राम मांझी के बीच सीधा मुकाबला है.

नीतीश कुमार ने चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि कुछ लोग काम नहीं करना चाहते हैं. वह सिर्फ माल बनाना चाहते हैं. जो मेरे खिलाफ बोलते हैं उनको बिहार बारे में जानकारी नहीं है. वह चर्चा में रहने के लिए मेरे खिलाफ बोलते हैं. नीतीश कुमार ने कहा कि 15 साल से हमें काम करने का मौका मिला. पहले पति-पत्नी को राज करने का मौका मिला, पहले कानून का राज नहीं था. आपराधिक घटनाएं होती थी. जब बिहार ने हमें मौका दिया तब से हम सेवा कर रहे हैं. पहले जो स्थिति थी और आज जो स्थिति है उसमें बहुत अंतर है. जिसको कोई काम करने की आदत नहीं है न ही कोई समझ है. वो कुछ भी बोलता रहता है. मेरे ऊपर बोलने से किसी को प्रचार मिलता है तो बोलो.

नीतीश कुमार ने कहा कि हम तो लोगों की मदद करते हैं. सेवा करते हैं हम जो काम करते हैं उसकी बात पूरी दुनिया में फैल रही है. नीतीश ने कहा कि यूएन ने कहा कि आपने पर्यावरण के लिए जो काम किया है, वो हमें बताइए. हमने वर्चुअल तरीके से बात रखी. बापू की बात उनको बताई कि पृथ्वी लोगों की जरूरत को पूरा करने में सक्षम है लालच को नहीं.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *