Share this


PATNA : बिहार में विधानसभा चुनाव की सुगबुगाहट तेज हो गई है. इस कड़ी में निर्वाचन आयोग ने बिहार सरकार को पत्र लिखकर अधिकारियों के तबादले का निर्देश जारी किया है. नीतीश सरकार को भेजे गए पत्र में चुनाव आयोग ने इस बात का जिक्र किया है कि प्रदेश के किन अधिकारियों का तबादला करना है. निर्वाचन आयोग द्वारा जारी पत्र से पहले से ही बिहार में अधिकारियों के तबादले का सिलसिला शुरू हो चुका है. इस कड़ी में बीडीओ, सीडीपीओ, सीओ समेत कई जिलों के एमवीआई और थानेदारों का भी तबादला किया जा रहा है. ऐसे में चुनाव आयोग द्वारा भेजे गए इस पत्र से साफ हो गया है कि बिहार में विधानसभा चुनाव नियत समय पर ही होंगे. चुनाव आयोग ने इस संबंध में बिहार के मुख्य सचिव को पत्र लिखते हुए निर्देशों का पालन करने साथ ही निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए सरकार को तत्काल अधिकारियों का तबादला करने का भी निर्देश दिया है.

चुनाव आयोग ने सीधे तौर पर कहा है कि चुनाव से जुड़ा कोई भी अधिकारी अपने गृह जिले में पोस्टेड नहीं रहना चाहिए. किसी भी अधिकारी को अगर जिले में पदस्थापित हुए 3 साल हो गए हैं या ऐसा 31 अक्टूबर तक हो रहा है तो उन्हें तत्काल वहां से हटाया जाए. इसके साथ ही साथ ही गृह जिला में किसी भी अधिकारी की नियुक्ति न हो. साल 2019 में लोकसभा चुनाव के दौरान आयोग की तरफ से पदस्थापित चुनाव से जुड़े सभी अधिकारियों पर उपर्युक्त दिशा-निर्देश लागू नहीं होगा. निर्वाचन आयोग की इस चिट्ठी के बाद तबादले के दायरे में डीएम, एडीएम, एसडीएम, बीडीओ-सीओ, कार्यपालक दंडाधिकारी के साथ-साथ दरोगा से ऊपर के तमाम अधिकारी आएंगे.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *