Share this


  • हिंदी समाचार
  • अंतरराष्ट्रीय
  • पाकिस्तान TikTok प्रतिबंध नवीनतम अद्यतन; याचिका सिंध उच्च न्यायालय में, इमरान खान सरकार ने चीनी कम्पेन बायटेंस से बात की

इस्लामाबाद2 दिन पहले

पाकिस्तान के कराची शहर में मोबाइल फोन पर व्यस्त लड़के। पाकिस्तान टेलिकॉम अथॉरिटी यानी पीटीए ने 9 अक्टूबर को गुपचुप तरीके से वीडियो शेयरिंग ऐप टिकटॉक को बैन दिया था। पाकिस्तान में टिकटॉक के 2 करोड़ यूजर्स हैं। (फाइल)

  • पाकिस्तान ने पिछले दिनों सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म बीगो को भी बैन किया था, ये पांच दिन में ही हट गया था
  • माना जा रहा है कि टिकटॉक पर बैन बहुत ज्यादा दिन नहीं टिकेगा, पाकिस्तान में टिकटॉक के 2 करोड़ यूजर्स हैं

पाकिस्तान में टिकटॉक पर बैन का विरोध शुरू हो गया है। तीन दिन पहले टिकटॉक को अश्लीलता फैलाने के आरोप में बैन किया गया था। लेकिन, अब इस बैन के खिलाफ सिंध हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई है। याचिका में कहा गया है कि यह बैन प्रकट की आजादी के खिलाफ है। दूसरी ओर, सरकार और चीनी कंपनी टिकटॉक के बीच सुलह के लिए बातचीत शुरू हो गई है।

पिटीशन में क्या कहा गया
वीडियो शेयरिंग ऐप टिकटॉक पर बैन के खिलाफ दायर याचिका में सरकार के फैसले का विरोध किया गया है। इसमें कहा गया है- पाकिस्तान में टिकटॉक के 2 करोड़ यूजर्स हैं। इसको बैन किया जाना संविधान के अनुच्छेद 19 का उल्लंघन है। इसके तहत सभी को अपनी बात कहने का अधिकार है। टिकटॉक की वजह से देश या मजहब को नहीं है। न ही यह किसी अदालत के आदेश का उल्लंघन करता है। अगर कोई इसका गलत इस्तेमाल करता है तो उसकी आईडी ब्लॉक की जा सकती है या उस पर लगाए जा सकते हैं। याचिका पर हाईकोर्ट कल यानी गुरुवार को सुनवाई होगी।

कंपनी से बातचीत भी शुरू
टिकटॉक को बैन करने वाली पाकिस्तान टेलिकॉम अथॉरिटी (पीटीए) और कंपनी के बीच बातचीत भी शुरू हो गई है। खास बात ये है कि पीटीए ने पिछले महीने कई बार टिकटॉक से अश्लील और आपत्तिजनक कंटेंट हटाने को कहा था। लेकिन, चीनी कंपनी ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की। अब कंपनी ने कहा है कि वह पीटीए से बातचीत के जरिए कोई रास्ता निकालने की कोशिश कर रही है। दूसरी ओर, पीटीए ने कहा है कि टिकटक को एक तारीख मेंani होगी कि वह कब आपत्तिजनक कंटेंट हटाएगी।

भ्रम में पड़ गई सरकार थी
कुछ महीने पहले पाकिस्तान की दो टिकॉक स्टार हरीम शाह और संदल खटक के वीडियो वायरल हुए थे। ये वो प्रधानमंत्री इमरान और कुछ मंत्रियों के साथ नजर इन्न थे। तब इन कलाकारों का काफी विरोध हुआ था। मीडिया में कई दिनों तक मुद्दा छाया रहा। आरोप है कि मामले को ठंडा करने के लिए इन लड़कियों को कनाडा भेज दिया गया था। इसके बाद कई संगठनों ने टिकटॉक को बैन करने की मांग की थी।





Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *