Share this


इस्लामाबादएक घंटा पहले

  • कॉपी लिस्ट

फोटो पाकिस्तान की टिकटॉक स्टार जन्नत मिर्जा की है। सोशल मीडिया ऐप पर जन्नत के 10 मिलियन फॉलोअर हैं। खास बात ये है कि जन्नत पाकिस्तान नहीं बल्कि जापान में रहती है। उनके ज्यादातर टिकटॉक वीडियो बॉलीवुड के गानों पर होते हैं। (फाइल)

  • पाकिस्तान में कई महीनों से चीन के सोशल मीडिया ऐप टिकटॉक पर बैन की मांग उठ रही थी
  • कुछ महीने पहले बीवो को बैन किया गया था, चीन की नाराजगी के डर से 5 दिन बाद ही बैन हटा लिया गया था

पाकिस्तान ने चीन के सोशल मीडिया ऐप टिकटॉक को गुपचुप तरीके से बैन कर दिया है। आरोप है कि इस ऐप के जरिए अश्लीलता फैल रही थी और इसकी वजह से रेप और बच्चों के यौन शोषण की घटनाएं बढ़ी थीं। कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री इमरान खान के एक सलाहकार ने दावा किया था कि प्रधानमंत्री भी टिकटॉक जैसे ऐप के इस्तेमाल पर रोक लगाना चाहते हैं। भारत में यह कुछ महीने पहले बैन किया जा चुका है। खास बात ये है कि पाकिस्तान सरकार ने टिकटॉक को बैन किए जाने की कोई औसत घोषणा नहीं की। माना जा रहा है कि ऐसा चीन की नाराजगी से बचने के लिए किया गया है।

सरकार चुप रही
न्यूज एजेंसी रॉयटर्स से बातचीत में पाकिस्तान सरकार के एक अफसर ने माना कि टिकटॉक पर बैन लगा दिया गया है। इस अफसर ने कहा- देश के कई हिस्सों से मांग उठ रही थी कि टिकटॉक के जरिए अश्लीलता फैलाई जा रही है और यह पाकिस्तान जैसे इस्लामिक देश में सहन नहीं कर सकता। हमने कई बार और पिछले दिनों लगातार टिकटॉक से बातचीत की। उनसे कहा गया कि वे ऐप से आपत्तिजनक कंटेंट हटा दें। लेकिन, उन्होंने ऐसा नहीं किया। लिहाजा, हमें यह कदम उठाना पड़ा।

कुछ खुश तो कुछ नाराज
टिकटॉक को पाकिस्तान में बैन किए जाने का मिलाजुला बचना सामने आया। कुछ लोगों ने इस पर खुशी जाहिर की तो कुछ दुखी या नाराज नजर आए। एक यूजर हसन बिलाल ने सैटेलाइट पर कहा- मैं खुश हूं कि पाकिस्तान सरकार ने आखिरकार एक सही कदम उठाया। एक अन्य उपयोगकर्ता ने लिखा- ऊपर वाले का शुक्रिया। आखिरकार हमें एक वायरस से आजादी मिल गई। एक यूजर ने लिखा- मैं जन्नत मिर्जा के लिए दुखी हूं। उन्होंने हाल ही में 10 मिलियन फॉलोअर्स बनाए थे।

देश का नुकसान
द ट्रिब्यून के पत्रकार जरार खुरो ने बैन का विरोध किया। उन्होंने लिखा- बैन जरूर करेंगे। लेकिन, हमें यह बात भी जेहन में रखनी होगी कि इस ऐप के जरिए कई लोगों को कमाई हो रही थी। दूसरी बात- आप पाकिस्तान में इन्वेस्टमेंट की बात करते हैं। और फिर एक पॉपुलर ऐप को बैन कर देते हैं। इससे तो इन्वेस्टर्स को हौसला नहीं बढ़ सकता है। एक और बात यह है कि कोई किसी पर इस बात के लिए दबाव तो नहीं डाला जा रहा था कि आप टिकटॉक ही देखें।





Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *