Share this


  • अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा- भारत के फैसले से उसकी राष्ट्रीय सुरक्षा मजबूत होगी
  • भारत ने सुरक्षा और एकता को खतरा बताते हुए 59 चीनी ऐप्स को बैन कर दिया है

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 10:40 PM IST

वॉशिंगटन। भारत सरकार के चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने के फैसले का अमेरिका ने भी समर्थन किया है। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भारत की सराहना करते हुए कहा कि टिक टॉक सहित चीनी ऐप्स पर बैन लगाने से भारत की सराहना बढ़ जाएगी।
पोम्पियो ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में रिपोर्टरों से कहा- हम भारत के फैसले का स्वागत करते हैं। ये एप्लिकेशन चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) के जासूसी करने वाले देश चीन का पिछलग्गू बनकर काम कर रहे हैं।

सरकार ने टिक टॉक, यूसी शेखर सहित 59 चीनी ऐप बैन किए थे
सरकार ने चीन के 59 ऐप्स पर सोमवार को बैन लगा दिया था। इस लिस्ट में टिक टॉक, यूसी न्यूज़र, हेलो और स्टॉक इट जैसे ऐप्स शामिल हैं। सरकार ने कहा था कि ये चाइनीज ऐप्स के सर्वर भारत से बाहर मौजूद हैं। उनके जरिए यूजर्स का डेटा चुराया जा रहा था। इनसे देश की सुरक्षा और एकता को भी खतरा था। सरकार ने इन्फर्मेशन टेक्नोलॉजीज एक्ट के सेक्शन 69 ए के तहत इन चीनी ऐप को बैन किया है।

टिक टॉक इंडिया ने मंगलवार को यूजर्स के डेटा को चीनी सरकार के साथ साझा करने से इनकार किया था।

गलवान हिंट झड़प के बाद हुई है कार्रवाई

चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने की कार्रवाई पूर्वी लद्दाख के गलवान में हुई हिंसक झड़प के बाद हुई है। 15 जून को भारत और चीन की सेना में हिंसक झड़प हुआ था। इसमें भारत के 20 युवा शहीद हो गए थे। चीन के भी 43 सैनिकों के मारे जाने की खबर आई थी। हालांकि, चीन ने कोई आधिकारिक आंकड़ा जारी नहीं किया है।

ये खबरें भी पढ़ सकती हैं …
1। चीन को डर सता रहा है कि गलवान में मारे गए सैनिकों की संख्या बता दी जाए तो देश में विद्रोह हो जाएगा: रिपोर्ट

2। बातचीत के दिखावे के बीच चीन ने एलएसी पर 20 हजार सैनिक भेजे, भारत ने भी जवाबी तैयारी की, अक्टूबर के पहले हालात में कहराना मुश्किल है

3। चीन ने अब भूटान की जमीन पर दावा किया; भूटान का जवाब- दावा गलत है, वो हमारे देश का अटूट हिस्सा है

4। टिक टॉक, यूसी शेखर और शेयर इट सहित 59 चाइनीज ऐप्स पर बैन, सरकार ने कहा- ये देश की सुरक्षा और एकता के लिए





Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *