Share this


  • बोसोन्स ग्लेशियर से मिले वॉलपेपर वॉलपेपर में इंदिरा गांधी की जीत की खबर है
  • 24 जनवरी 1966 को एयर इंडिया का बोइंग 707 प्लेन होटल हो गया था

दैनिक भास्कर

Jul 14, 2020, 03:16 PM IST

लंदन। फ्रांस में एक पिघलते ग्लेशियर से 1966 के भारतीय न्यूजपेपरों की कई प्रति मिली हैं। पश्चिमी यूरोप के मॉन्ट ब्लैंक माउंटेन रेंज बोसोन्स ग्लेशियर से इन्हें बरामद किया गया है। यहां पर 54 साल पहले एयर इंडिया का एक प्लेन होटल हो गया था।

अखबारों में इंदिरा गांधी की जीत की खबर है
अखबारों में इंदिरा गांधी की चुनीवी जीत का जिक्र है। हेडिंग लगी है- ‘इंडियाज फर्स्ट वुमन प्राइम मिनिस्टर’। इन अखबारों को ग्लेशियर के पास ही कैफै चलाने वाले टिमूथी मॉटिन ने खोजा है। ब्रिटेन के द गार्जियन न्यूज पेपर के मुताबिक 33 साल के मॉतिन ने बताया कि वह अखबारों को सुखा रहे हैं। वे बहुत अच्छी स्थिति में हैं। मॉतिन ने बताया कि जब वे भी दोस्तों के साथ ग्लेशियर पर जाते हैं तो उन्हें दुर्घटना के कुछ न कुछ अवशेष मिलते रहते हैं।

हादसे में 177 लोगों की जान गई थी
24 जनवरी 1966 को एयर इंडिया का बोइंग 707 प्लेन मॉन्ट ब्लैंक माउंटेन रेंज में विभाजित हो गया था। हादसे में क्रूर सहित 177 यात्रियों की मौत हो गई थी। हादसा की वजह मिसकम्युनिकेशन बताई गई थी। यहां इससे पहले 1950 को भी एक भारतीय विमान मालाबार प्रिंसेस ट्रेन हो चुकी थी।
मॉतिन को मिले अखबारों में ‘नेशनल हेराल्ड’ और ‘इकोनॉमिक टाइम्स’ भी शामिल हैं। मॉतिन के कैफे से बोसोन्स ग्लेशियर तक पैदल जाने में 45 मिनट लगते हैं।

2012 के बाद से कई अवशेष मिल गए
2012 के बाद से ग्लेशियर पिघलने पर प्लेन इंडिया से जुड़े कई अवशेष मिले हैं। 2012 में यहां डिप्लोमैटिक मेल का एक बैग मिला था, इस पर भारतीय गर्वनमेंट के विदेश मंत्रालय का स्टैम्प लगा था। एक साल बाद एक फ्रांसीसी क्लाइंबर को एक मेटल बॉक्स मिला था, जिसमें एयर इंडिया का लोगो था। बॉक्स में पन्ना, नीलम और मणिक मिले थे।
2017 में इस क्षेत्र में मानव अवशेष भी पाए गए थे। माना जाता है कि यह भी 1966 के प्लेन कार्ड के हैं।





Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *