Share this


वॉशिंगटन3 दिन पहलेलेखक: मैगी हेबरमैन और एनी केरनी

डोनाल्ड ट्रम्प ने सोमवार को इलेक्शन कैम्पेन का दूसरा राउंड शुरू किया। पिछले सप्ताह वे कोविड -19 से भिन्न हुए। अस्पताल में भर्ती होने और फिर व्हाइट हाउस लौटे। विजय के सैनफोर्ड में उन्होंने पहली रैली की। एक घंटे से कुछ अधिक भाषण दिया और इस दौरान खुद से सेहतमंद और ऊर्जा से भरे दिखाने की कोशिश करते रहे।

बिना सबूतों के दावे के
ट्रम्प के विरोधी इस बात का सबूत मांग रहे हैं कि वे कोरोना निगेटिव हो चुके हैं। लेकिन, कम से कम इस रैली के पहले तक तो इस बात का कोई सबूत ट्रम्प या उनके कैम्प ने नहीं दिया। राष्ट्रपति दावा करते हैं कि वे कोरोना इम्यून हो चुके हैं। लेकिन, यह सिर्फ दावा है। और ये दावों की पुष्टि के लिए जो वैज्ञानिक समर्थन या कहिए एक्सपर्ट्स का समर्थन चाहिए, वह कहां है? राष्ट्रपति कहते हैं- मैं पहले से ज्यादा पॉवरफुल महसूस कर रहा हूं। कितनी हैरानी की बात है कि जब वे एयरफोर्स वन से वाशिंगटनटन जाने के लिए उड़ान में बैठ रहे थे, तब भी उन्होंने फ़ंक्शन नहीं किया था।

और न समर्थक
कोरोनावायरस की वजह से अमेरिका में अब तक 2 लाख 15 हजार लोग जान गंवा चुके हैं। ट्रम्प के लिए भी यह व्यक्तिगत और राष्ट्रपति के तौर पर सबसे बड़ी चुनौती है। लेकिन, उनका रवैया बहुत पुराना और आरोप लगाने वाला है। वे कहते हैं- जो बाइडेन और डेमोक्रेट पार्टी वैक्सीन नहीं आने देना चाहते हैं। और सब अपनी जगह। लेकिन, विकी की रैली में उनके जो हजारों समर्थक जुटे। उनमें से ज्यादातर ने फ़ंक्शन नहीं किया था। डेमोक्रेट्स की रैली छोटी होती हैं लेकिन रिपब्लिकन्स की रैली में काफी भीड़ जुटती है।

में ट्रम्प के चार झूठ और उनका सच

पहला झूठ: नींद में रहने वाले बाइडेन टैक्स चार गुना बढ़ाना चाहते हैं।
इसका सच:
2017 में टैक्स में कमी की गई थी। यह 39.6% से 37% किया गया था। बाइडेन कहते हैं कि वे वर्तमान टैक्स रेट पुराने स्तर पर ले जाना चाहते हैं। इसके अलावा वे किसी भी तरह इन दूसरेकम टैक्स के पक्ष में नहीं हैं।

दूसरा झूठ: WHOO ने माना कि ट्रम्प सही हैं। लॉकडाउन से डेमोक्रेट शासन वाले राज्यों को नुकसान हुआ।
इसका सच:
ट्रम्प डब्ल्यूएचओ के डॉ डेविड नोबार्नो के बयान का तोड़-मरोड़कर जिक्र कर रहे हैं। ट्रम्प ने महामारी के मालिकों महीनों में लॉकडाउन का यह कहते हुए विरोध किया था कि इससे इकोनॉमी तबाह हो जाएगी। दूसरी बात, डॉ डेविड ने यह कहा था कि सिर्फ आंशिक लॉकडाउन से महामारी पर अति नहीं पाई जा सकती थी। इसके साथ ही उन्होंने कुछ दूसरी बातें भी कहीं। ट्रम्प ने इनका जिक्र नहीं किया।

तीसरा झूठ: अमेरिका का इकोनॉमिक रिकवरी रेट सबसे बेहतर है।
इसका सच:
ट्रम्प का यह कहना है कि अमेरिका ने दुनिया में सबसे अच्छी तरह से इकोनॉमिक रिकवरी की है, सही नहीं है। दूसरी तिमाही में जीडीपी 9.1 फीसदी रही। जी -20 के पांच देशों में यह स्थिति है। चीन की विकास दर 11.5 प्रति रही। बेरोजगारी दर 8.4 प्रतिशत रही। यह 7.4 प्रति के औसत से ज्यादा है।

चौथा झूठ: पहले डिबेट में बाइडेन का बचाव नियम ने किया।
इसका सच:
ट्रम्प पहले प्रेसिडेंशियल डिबेट की बात कर रहे थे। इटली वैलेस ने कानूनी एजेंसियों का जिक्र किया था। बाइडेन इस पर जवाब देने लगे तो ट्रम्प ने कई बार रोक-टोक की। इसकी वजह से प्रथाओं ने इसे टॉपिक ही बदल दिया। अब ट्रम्प जनता के बीच इसे अपनी जीत और बाइडेन की हार के तौर पर दिखा रहे हैं।





Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *