Share this


PATNA : राज्य में बाढ़ का खतरा बरकरार है. कोसी का जलस्तर कम हुआ है, लेकिन अन्य नदियों में उफान जारी है. इधर मौसम विभाग ने बक्सर समेत 7 जिलों में भारी बारिश और आकाशीय बिजली गिरने का अलर्ट जारी किया है. बक्सर, भोजपुर, रोहतास, भभुआ, औरंगाबाद, जहानाबाद और अरवल में अलर्ट जारी किया गया है. इसके अलावा पटना सहित 31 जिलों में अगले चार दिनों तक मौसम सामान्य रहेगा. हल्की बारिश की संभावना जताई गयी है. वहीं बांका जिले के रजौन में आकाशीय बिजली गिरने से 45 वर्षीय अंजना देवी जख्मी हो गयीं. जख्मी महिला रजौन प्रखंड के भुसिया सलखुचक निवासी विजय सिंह की पत्नी हैं. स्थानीय लोगों की मदद से उन्हें इलाज के लिए रजौन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया. जहां उनका इलाज चल रहा है.

बांका जिले के अमरपुर थाना क्षेत्र के कुशमाहा बहियार में मवेशी चरा रहे एक चरवाहा की मौत वज्रपात की चपेट में आने से हो गयी. जानकारी के अनुसार, कुशमाहा गांव के आनंदी यादव (50) बहियार में मवेशी चराने गये थे. इसी दौरान बारिश के साथ हुए वज्रपात की चपेट आने से वे अचेत हो गया. स्थानीय लोगों व परिजनों द्वारा उन्हें घटनास्थल से घर लाया जा रहा था. लेकिन रास्ते में ही उनकी मौत हो गयी. इस घटना के बाद ग्रामीणों ने मामले की जानकारी स्थानीय थाना व अंचलाधिकारी को दी. सूचना मिलते ही सीओ सुनील साह पुलिस बल के साथ गांव पहुंचे और शव को अपने कब्जे में लेते हुए पोस्टमॉर्टम के लिए बांका भेज दिया. ग्रामीणों ने बताया कि आनंदी को चार पुत्र व दो पुत्री है. पुत्र पिंटू, सिंटू, मन्ना व गोलू बाहर रहकर मजदूरी करते हैं. वहीं घटना के बाद मृतक की पत्नी सहित अन्य परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है.

मोतिहारी के बंजरिया प्रखंड की नौ पंचायतें बाढ़ की चपेट में आ गयी है. चैलाहां चौक से फुलवार जाने वाली सड़क पर पांच फीट पानी बह रहा है, जिस कारण आवागमन बाधित हो गया है. प्रखंड एवं अंचल कार्यालय बाढ़ के पानी से पूरी तरह घिर गया है. प्रखंड व अंचल कार्यालय पुराने वाले प्रखंड कार्यालय सह बंजरिया पंचायत के सामुदायिक भवन में चल रहा है. फुलवार उत्तरी, फुलवार दक्षिणी, पचरुखा पूर्वी, रोहिनिया, जनेरवा, पचरुखा मध्य, सिसवा पश्चिमी, पचरुखा पश्चिमी, अजगरी पंचायत सहित घोड़मरवा, वृत्त गम्हरिया, बढ़इया टोला, भरवा टोला, ब्रह्मपुरा, ब्रह्मपुरी, सेमहरिया, चितहां, गम्हरिया, नगदहां, फुलवार, सुंदरपुर, खैरी, बुढ़वा, अजगरवा, सुखीडीह, चिचरोहिया, मोखलिसपुर, लमोनिया, जटवा, कुकुरजरी, जनेरवा, सिसवनिया, गोबरी सहित अन्य गांव पूरी तरह से प्रभावित है.

धौंस नदी के पश्चिमी तटबंध मधुबनी जिले के मधवापुर प्रखंड अंतर्गत ब्रह्मपुरी, बलवा एवं अंदौली गांव के समीप टूट जाने के कारण प्रखंड के यदुपट्टी, परिगामा, भंटाबाड़ी व बररी वेहटा पंचायत के लोगों का प्रखंड मुख्यालय से संपर्क भंग हो गया है. वहीं, प्रखंड के सभी पंचायतों का संपर्क अनुमंडल व जिला मुख्यालय से टूट चुका है. कारण कि चोरौत- भिट्टामोड़ एनएच 104 पर तीन से चार फीट तो चोरौत- पुपरी एनएच- 527 सी पर करीब दो से तीन फीट पानी चल रहा है. इसी प्रकार यदुपट्टी, परिगामा, भंटाबाड़ी व बररी वेहटा पंचायत के अधिकांश वार्ड समेत चोरौत पूर्वी, चोरौत उत्तरी व चोरौत पश्चिमी पंचायत के कुछ वार्ड मे भी बाढ़ का पानी घुस गया है.

समस्तीपुर जिले के बिथान प्रखंड से गुजरने वाली करेह नदी में पानी का दबाव काफी बढ गया है. नदी के दायें तटबंध पर अवस्थित फुहिया ढाला बाढ़ के पानी से ध्वस्त हो गया है. पिछले वर्ष ही बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल-2 खगड़िया ने इस ढाला का निर्माण कराया था. फुहिया घाट होकर इस ढाला से सहरसा, दरभंग, समस्तीपुर एवं खगड़िया के कई गांवों के लोगों का आवागमन होता है. बाढ़ के समय में करेह के दाया तटबंध से कमला बलान (दर्जियाया-फुहिया) बांध से होकर लोग दूर तक जाते हैं. इस ढाला को बंद हो जाने से बाढ़ के चार माह तक इन गांवों के लाखों लोगों का आवागमन पूरी तरह बंद हो जायेगा. विदित हो कि जलसंसाधन विभाग बिहार पटना के सचिव संजीव हंस के साथ गत सप्ताह सभी बड़े अभियंता व अधिकारी इस ढाला होकर ही फुहिया घाट पहुंचे थे.

मधुबनी के बेनीपट्टी प्रखंड क्षेत्र में पिछले दिनों हुई लगातार बारिश से अधवारा समूह की सहायक नदी धौंस सहित अन्य नदियों का जलस्तर निरंतर बढ़ने का सिलसिला जारी है. बछराजा, खिरोई और थुमहानी सहित अन्य नदियों का जल स्तर तेजी से बढ़ने लगा है. बाढ़ग्रस्त इलाके के लोगों में दहशत का माहौल है. समदा इस्लामिया टोल और सोहरौल के समीप नदी का पानी ओवरफ्लो होकर गांवों की ओर फैलने लगा है. माधोपुर, बर्री, फुलबरिया, राजघट्टा, धनुषी, बसैठ, चानपुरा, हथियारवा, सिमरकोन, करहारा, बिरदीपुर, डीहटोल व सलहा सहित अन्य इलाकों के बघार पूरी तरह जलमग्न हो गया हैं.

मधुबनी जिले के खजौली प्रखंड क्षेत्र में पिछले चार दिनों से हो रही बारिश से गागन, धौरी, पौराहा नदी में बाढ़ आ गयी है. जिससे मरुकिया, गोबरौरा गांव की मुख्य सड़क पर दो से चार फीट पानी आ गया है. गांव का मुख्य सड़क से संपर्क भंग होने पर लोगों की परेशानी बढ़ गयी है. सड़क पर बाढ़ का पानी आ जाने से तीन गांव मरुकिया, खैरवाना एवं गोबरौरा के लोगों को सड़क संपर्क टूट गया है. सीओ सतीश कुमार ने कहा कि बाढ़ का पानी मरुकिया महादलित टोला के दर्जनो घर में घुस गया है.

चौसा प्रखंड में बाढ़ के पानी से भटगामा-उदाकिशुनगंज एसएच-58 पेट्रोल पंप भटगामा के समीप नवनिर्माण पुल के पास मंगलवार को पानी के तेज बहाव से डायवर्सन टूट गया. इससे तकरीबन छह घंटे वाहनों के परिचालन बाधित रहा. हालांकि, ठेकेदार के द्वारा मोटेरेबल का कार्य प्रारंभ कर सड़क संपर्क को चालू कराने का प्रारंभ कर दिया गया है. फुलौत पूर्वी एवं पश्चिमी पंचायत के सपनी मुसहरी, झंडापुर बासा, घसकपूर, पनदही बासा, कारे बासा, अमनी, करेलिया, बड़ीखाल, मोरसंडा, श्रीपुरबासा, पर्वता, भटगामा, चिरौरी, लौआलगाम पूर्वी एवं पश्चिमी पंचायत के हिस्सों में पानी फैला गया है. इससे ग्रामीणों का अपने मवेशियों के चारे की किल्लत उत्पन्न हो गयी है.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *