Share this


टोक्योएक घंटा पहले

  • कॉपी लिस्ट

जापान की राजधानी टोक्यो में मंगलवार को क्वाड देशों की बैठक में हिस्सा लेने से पहले फोटो सेशन करवाते भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री।

  • बैठक में भारतीय विदेश मंत्री एस। जयशंकर, अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो, ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री मैरिसे पेयने और जापान के विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोटागी शामिल थे।
  • भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा- हम इंडो पैसिफिक क्षेत्र में हालात सामान्य करने के पक्ष में यह, यह इलाका खुला हो और किसी भी तरह के दबाव से मुक्त हो।

क्वड देशों भारत, जापान, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका के विदेश मंत्रियों की बैठक मंगलवार को जापान की राजधानी टोक्यो में हुई। इस बैठक में शामिल सभी देशों ने एक साथ मिलकर इंडो पैसिफिक क्षेत्र में चीन के बढ़ते दबदबे को कम करने पर चर्चा की। भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा- हम एक वाइब्रेंट डेमोक्रेसी हैं, जिनके मूल्य हैं। हम आंतरिक नियमों को मानने में यकीन रखते हैं। आंतरिक समुद्री क्षेत्र में जहाजों की बेरोकटोक आवाजाही के पक्ष में हैं। साथ ही हम अपनी सीमा और संप्रभुता का सम्मान भी करते हैं। हम किसी को भी विवाद का शांति से समाधान चाहते हैं। जयशंकर ने इस बैठक के बाद जापान के प्रधानमंत्री एस सुगा से भी मुलाकात की।

क्वाड देशों की यह बैठक मौजूदा समय में इंडो पैसिफिक क्षेत्र में बढ़ते तनाव को देखते हुए महत्वपूर्ण मानी जा रही है। बीते कुछ समय से इस क्षेत्र में चीन ने अपना दबदबा बढ़ाने की कोशिश की है। इस क्षेत्र में चीन कई बार क्वाड के दो सदस्य देशों भारत और जापान के लिए मुश्किलें खड़ी कर चुका है।

हम आंतरिक कानून को मानने में यकीन रखते हैं: भारत

एस जयशंकर ने कहा कि हम इंडो पैसिफिक क्षेत्र में सामान्य स्थिति कायम करने के पक्ष में। यह इलाका खुला हो और किसी भी तरह के दबाव से मुक्त हो। हम किसी को भी विवाद का शांति से समाधान चाहते हैं। हमारे लिए यह तसल्ली की बात है कि इंडो पैसिफिक क्षेत्र के मुद्दे पर दुनिया भर में समझ बढ़ी है। हमारा मानना ​​है कि इस क्षेत्र के सभी देशों की सुरक्षा और उनकी आर्थिक नीतियों का ध्यान रखा जाना चाहिए।

बैठक में कौन कौन हुआ शामिल

बैठक में भारत के विदेश मंत्री के अलावा अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो। ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री मैरिसे पेयने और जापान के विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोटेगी भी इस बैठक में शामिल हुए। पोम्पियो ने ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री से मुलाकात के बाद कहा- हमारे बीच चीन की दूसरे देशों को नुकसान पहुंचाने के लिए चलाई जा रही गतिविधियों पर चर्चा हुई। उन्होंने जापान के विदेश मंत्री के साथ भी चीन के बारे में चर्चा करने की बात कही।

क्या है?

क्वड को क्वाड्रिलेटरल सिक्योरिटी डायल के नाम से भी जाना जाता है। हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन की बढ़ती सैन्य गतिविधियों पर चिंता जताते हुए अमेरिका, भारत, जापान और ऑस्ट्रेलिया ने मिलकर 4 क्वाड ’(4 देशों का संगठन) बनाया था। 2007 में जापान के पीएम शिंजो आबे ने क्वाड का प्रस्ताव रखा था। इसके सामने आने के बाद रूस और चीन ने विरोध भी जताया था। 2008 में ऑस्ट्रेलिया ग्रुप से बाहर हो गया था। हालांकि, बाद में वह फिर शामिल हो गया था।





Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *