Share this


  • भूस्खलन की चपेट में कई घर आए, अब तक लगभग 19 लोग लापता हैं
  • पश्चिमी नेपाल के कास्की, लामुजांग और हालुम जिले की घटना

दैनिक भास्कर

Jul 10, 2020, 04:08 PM IST

काठमांडू। पश्चिमी नेपाल में मूसलाधार बारिश से गुरुवार को हुईं भूस्खलन की अलग-अलग घटनाओं में 12 लोगों की मौत हो सकती हैं। 19 लोग लापता हैं। 10 लोग घायल हुए, जिनका इलाज चल रहा है। पिछले 48 घंटों से हो रही बारिश से नारायणी और अन्य प्रमुख नादियां उफन पर हैं। मौसम विभाग के मुताबिक, अगले तीन दिनों तक मानसूनी बारिश से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है।

पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि कास्की जिले में पोखरा सिटी एरिया के सारंगकोट और हेमजन में तीन बच्चों सहित 7 लोगों की जानें गई हैं। उनमें से 5 की मौत सारंगकोट में भूस्खलन की चपेट में एक घर के आने से हुई। यहां 10 लोग घायल हुए हैं, जिनका इलाज चल रहा है। इसके अलावा लामुजांग जिले के बेसिशहर में एक परिवार के 3 लोगों की मौत हो गई। वहीं, हालुम जिले के आबिबस्कॉट इलाके में भी 2 अन्य लोगों की मौत हो गई।

सिधुपालचोक में बाढ़ जैसी स्थिति

जाजरकोट जिले में भूस्खलन से 2 घरों के बह जाने से 12 लोग और म्यागदी जिले में एक ही परिवार के 7 लोग लापता हैं। सिंधुपालचोक में भी बाढ़ जैसे हालात हैं।

पिछले साल जुलाई में भूस्खलन से 78 लोगों की मौत हुई थी
नेपाल में पिछले साल जुलाई में बाढ़ और भूस्खलन से 78 लोगों की जानें गई थीं। वहीं 40 से ज्यादा लोग घायल हो गए।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *