Share this


PATNA : राजस्थान एटीएस की गिरफ्त में बीते 3 अक्टूबर को मो. सफदर कुरैशी नाम का शख्स आया था। वहां के किसी मामले में उसे पकड़ा गया था। उसकी गतिविधियां किन-किन मामलों में थी, इसके सत्यापन के लिए राजस्थान एटीएस की टीम शनिवार की रात को उसे लेकर बोधगया को पहुंची थी। बोधगया में एटीएस की टीम एक गेस्ट हाउस में ठहरी थी। रात भर तो सब कुछ ठीक रहा, किन्तु रविवार की सुबह हुई और उक्त शख्स नहीं मिला तो जयपुर एटीएस के होश फाख्ता हो गए। जयपुर एटीएस की टीम ने पड़ताल शुरू की, किन्तु काफी मशक्कत के बाद भी उसका कोई पता नहीं चल सका। इसके बाद जयपुर एटीएस की टीम ने बोधगया थाना में एफआईआर दर्ज करवाई है। केस दर्ज कर बोधगया थाना की पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई थी। बोधगया पुलिस के मुताबिक राजस्थान एटीएस की टीम ने कोई जानकारी नहीं दी थी। रविवार की सुबह गिरफ्त में रहा शख्स हथकड़ी समेत भाग निकला तो इसकी सूचना हुई। मामले को लेकर केस दर्ज किया गया है। पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है।

जयपुर में पकड़ाए मो. सफदर के द्वारा किए गए कांडों का पता लगाने के लिए उसे 10 अक्टूबर की रात को बोधगया लाया गया था। राजस्थान में किसी कांड के अहम सुराग को पाने के लिए जयपुर एटीएस उसे यहां लाकर सबूत जुटाना चाह रही थी। बताया जा रहा कि करीब सप्ताह भर से उक्त शख्स से वहां की पुलिस और एटीएस विभिन्न स्थानों पर साथ ले जाकर कार्रवाई में जुटी थी। किन्तु उसके फरार हो जाने के बाद एटीएस की टीम मुश्किल में दिख रही है। इधर, बता दें कि फरार हुआ मो. सफदर कुरैशी गया जिले के ही बाराचटटी थाना अंतर्गत सरवां बाजार के समीप बजरकट गांव का रहने वाला है। एटीएस के एक पदाधिकारी और पांच जवान उसे लेकर बोधगया को पहुंचे थे। यह भी बता दें कि एटीएस की टीम को डोभी को पहुंचना था। कोरोना को देखते हुए भीड़-भाड़ से दूर आकर बोधगया में टीम ठहरी थी और रविवार को डोभी जाना था। उसके फरार हो जाने की पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हुई है। सीसीटीवी में देखा जा रहा है, कि उसने अपने हाथ में लगी हथकड़ी कपड़ों के सहारे छुपा दी थी और चार मंजिला गेस्ट हाउस से दूसरे गेस्ट हाउस का सहारा लेकर वह भाग निकलने में कामयाब हो गया।

राजस्थान एटीएस के पदाधिकारी और जवान ने इस तरह का मामला देख तुरंत बोधगया थाना को इसकी खबर दी। इसके बाद एटीएस और बोधगया थाना की पुलिस मो. सफदर कुरैशी की तलाश में कई स्थानों पर पहुंचती रही, किन्तु शातिर रहे इस शख्स का कोई पता नहीं चल सका है। इसके बाद एटीएस के पुलिस निरीक्षक पुरुषोत्तम कुमार ने फरार के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है। उसने जान बूझकर खुद के बीमार होने का बहाना बनाया था। रविवार की सुबह को करीब छह बजे उक्त गेस्ट हाउस के रूम नंबर 405 में उसने एटीएस जवानों को बताया कि उसकी तबीयत खराब है और उल्टी जैसा मन कर रहा। इसके बाद उसे गेस्ट हाउस के बालकनी में लेकर जाया गया, जहां मौका देख दीवार फांदकर हथकड़ी समेत वह फरार हो गया। गेस्ट हाउस का मेन गेट बंद होने के कारण एटीएस की टीम को बाहर निकलने में विलम्ब हो गया। उसकी गतिविधियों में मादक पदार्थ की सप्लाई की भी बात सामने आई है। वहीं राजस्थान एटीएस या बोधगया पुलिस ने फरार शख्स की गतिविधियों के संबंध में खुलकर कुछ बताने से असमर्थता जताई है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *