Share this


  • जू झंगरुन शिघुआ विश्वविद्यालय में कानून के प्रोफेसर, पुलिस ने सोमवार को उन्हें घर से पकड़ा
  • उनकी एक किताब न्यूयॉर्क में प्रकाशित हुई थी, जिसमें जिनपिंग और पार्टी की आलोचना की है

दैनिक भास्कर

Jul 07, 2020, 06:35 AM IST

बीजिंग। चीन की राजधानी बीजिंग में पुलिस ने सोमवार को राष्ट्रपति शी जिनपिंग के कड़े आलोचक जू झंगरु को उनके घर पर गिरफ्तार कर लिया। जू शिघुआ विश्वविद्यालय में कानून के प्रोफेसर हैं। उनकी मित्र गेंग जियाओनन ने कहा कि पिछले महीने जू की एक किताब न्यूयॉर्क में प्रकाशित हुई थी। इसमें जिनपिंग और उनकी कम्युनिस्ट पार्टी के शासन की तीखी आलोचना की गई है।

पुस्तक में 10 राजनीतिक निबंध हैं। इस पुस्तक के कारण ही जू को गिरफ्तार किया गया। इससे पहले स्थानीय मीडिया में रिपोर्ट आई थी कि जू को घर में नजरबंद किया गया है क्योंकि उन्होंने अपने एक निबंध में लिखा था कि चीन में जिनपिंग की वन मैन प्राधिकरण के कारण कोरोना उठायें।

एक अन्य निबंध में कहा गया था कि चीन माओत्से तुंग के अधिनायकवादी शासन की ओर रहा है। कई मुद्दों पर चीन दुनिया में अलग-थलग पड़ रहा है। चीनी जनता के लिए लोकतंत्र चुनने का यही सही समय है।

जनवरी से ही अपने आलोचकों को गिरफ्तार करवा रहे जिनपिंग
चीन में कोरोना परिस्थितियों से तुलना को लेकर जिनपिंग की आलोचना करने वालों की जनवरी से गिरफ्तारी की जा रही है। ये जू बड़ा नाम हैं। अप्रैल में एक बिजनसमैन रेन झिकारी ने अपने लेख में जिनपिंग को बिना कपड़ों का टोन बताया था।

पुलिस इस मामले में जांच कर रही है। यही नहीं, कई लोग कोरोना को लेकर जिनपिंग के रिजफे की मांग कर रहे हैं। उधर, चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने कहा कि उन्हें जू की गिरफ्तारी की सूचना नहीं है।

दैनिक भास्कर से ब्लूमबर्ग के विशेष अनुबंध के तहत





Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *