Share this


PATNA : ये बात लगभग पक्की मानी जा रहा थी कि बिहार सरकार से नाराज प्रदेश के करीब पौने चार लाख नियोजित शिक्षकों को मनाने के लिए सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) स्‍वतंत्रता दिवस के अवसर कोई बड़ा ऐलान कर सकते हैं. हुआ भी ठीक ऐसा ही. पटना के गांधी मैदान में अपने संबोधन में मुख्‍यमंत्री ने बिहार में नियोजित शिक्षकों (Contract Teachers) के लिए बड़ी घोषणा की जल्दी ही उनके लिए नई सेवा शर्त नियमावली लागू की जाएगी जिसके तहत शिक्षकों को कई लाभ मिलेंगे. सीएम नीतीश के इस ऐलान के बात माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष केदार पांडेय ने सीएम नीतीश को बधाई दी है. केदार पांडेय ने सबसे पहले खबर दिखाए जाने पर न्यूज 18 को भी दिया धन्यवाद देते हुए कहा कि ये ऐलान शिक्षकों के आंदोलन का परिणाम है. अब सरकार को समान काम, समान वेतनमान पर भी विचार करना चाहिए. बता दें कि सीएम नीतीश ने नई सेवा शर्त लागू करने और ईपीएफ देने की भी घोषणा की है. मिली जानकारी के अनुसार नियोजित शिक्षकों की सेवा शर्तों की नई नियमावली को अंतिम रुप दिया जा चुका है. अब मुख्‍यमंत्री की घोषणा के बाद माना जा रहा है कि आगामी 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के अवसर पर इसे लागू कर दिया जाएगा.

बताया जा रहा है कि शिक्षकों की नई सेवा शर्तों में ऐच्छिक स्थानांतरण, प्रोन्नति, वेतन वृद्धि और सेवा निरतंरता जैसी बातें शामिल हैं. नई सेवा शर्त नियमावली से राज्‍य के पौने चार लाख शिक्षक ईपीएफ का लाभ भी ले सकेंगे. गौरतलब है कि सीएम नीतीश कुमार ने अपने संबोधन में 35916 शिक्षकों के पद सृजित किए जाने की भी जानकारी दी. यह भी कहा कि चार सौ कॉलेज शिक्षकों की नियुक्ति के लिए भी प्रकिया शुरू की जाएगी. सूत्रों की मानें तो 5 सितम्बर तक जहां शिक्षकों को सेवा शर्त का सरकार तोहफा देने सकती है. नई सेवा शर्त लागू करने के साथ ही ‘नियोजित शिक्षक’ शब्द हटाने का ऐलान किया जा सकता है. यही नहींअनुकम्पा के इंतजार में बैठे आश्रितों को भी सरकार बड़ा लाभ देने जा रही है. इसके तहत जो भी टीईटी, बीएड ट्रेंड अभ्यर्थी होंगे उन्हें शिक्षक की नौकरी मिलेगी जबकि अनट्रेंड अभ्यर्थियों को डिग्री के आधार पर क्लर्क और फोर्थ ग्रेड कर्मचारी में बहाली ली जाएगी.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *