Share this


PATNA : इस चुनावी माहौल में एक बार फिर बिहार सरकार की पूर्व मंत्री सह चेरिया बरियारपुर विधानसभा क्षेत्र से जदयू (JDU) की उम्मीदवार मंजू वर्मा चर्चा में हैं. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) में एक तरफ वह जहां वोटरों को रिझाने के लिए महिलाओं के साथ मिलकर धान की दमाही करती नजर आ रही हैं, वहीं दूसरी तरफ उनका एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वह खुलेआम एक खास वर्ग के लोगों को कुकर्मी कहती नजर आ रही हैं. मंजू वर्मा ने कहा है कि शेल्टर होम जैसे कुकृत्य हम लोगों का नहीं बल्कि राजद के लोगों का काम है. इस वीडियो के वायरल होने के बाद बेगूसराय में पक्ष प्रतिपक्ष के बीच चर्चाओं का बाजार गर्म है. दरअसल चेरिया बरियारपुर विधानसभा क्षेत्र से एनडीए की ओर से इस बार भी मंजू वर्मा को उम्मीदवार बनाया गया है.

मंजू वर्मा को लेकर जहां इस संदर्भ में लोगों ने कहा मंजू वर्मा के पति शेल्टर होम के आरोपी रह चुके हैं और इसी मामले को लेकर जब मंजू वर्मा के पैतृक आवास पर छापेमारी की गई थी तो वहां से अवैध कारतूस बरामद किए गए थे. इस मामले में मंजू वर्मा और उनके प्रति चंद्रशेखर वर्मा को नामजद अभियुक्त बनाया गया था. हालांकि मंजू वर्मा के अनुसार, उक्त मामले में दोनों पति-पत्नी को आरोपमुक्त कर दिया गया है, लेकिन वायरल वीडियो में जिस तरह से वह राजद और एक खास जाति विशेष के लोगों को कुकर्मी कहती नजर आ रही हैं, वह राजनीति के गिरते स्तर को बयां कर रहा है. हालांकि वायरल वीडियो में मंजू वर्मा ने अपने आप को आरोपमुक्त बताते हुए कहा कि अगर भविष्य में भी सीबीआई के द्वारा उन्हें आरोपी करार दिया जाता है तो वह अपने राजनीतिक जीवन से इस्तीफा दे देंगी. फिलहाल यह कहना मुश्किल है कि मंजू वर्मा ने यह बयान राजनीतिक फायदे के लिए दिया है या फिर किसी अन्य कारण से.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *