Share this


  • रनिंग-बाइकिंग, घर और वस्त्र भंडार में इंफेक्शन का रिस्क सबसे कम है
  • अस्पताल, रेस्ट्रां, डेंटिस्ट, शेयरिंग टैक्सी में निष्क्रिय होने का ज्यादा खतरा
  • इंडोर पार्टी, एयर कंडीशनिंग, बार, स्टेडियम, ट्रांसपोर्ट में सबसे ज्यादा जोखिम है

दैनिक भास्कर

Jul 13, 2020, 06:21 AM IST

नई दिल्ली। देश में संक्रमण बढ़ रहा है। लेकिन लोग सोशल डिस्टेंसिंग, वर्क पहनने, हाइजीन का ध्यान रखने जैसी बेसिक बातों को भूल रहे हैं। इससे आपके लिए मुश्किलें बढ़ सकती हैं। इसलिए अभी तक आपको अपना बहुत ध्यान रखने की जरूरत है। यह भी जानना अत्यंत आवश्यक है कि घर या बाहर कोरोना संक्रमण का रिस्क कहां और कितना है? और क्या है?

कोरोना रिस्क इंडेक्स के जरिए आप इसका आकलन कर सकते हैं। यह तय कर सकते हैं कि क्या करें, क्या न करें, कहा जाएं और कहां जाएं।

इंफेक्शन के रिस्क फैक्टर्स-

रिसर्च में हुई कई रिसर्च में पाया गया है कि कोरोना संक्रमण का रिस्क 4 फैक्टर्स पर आधारित हैं। रिस्क के 4 लेवल भी हैं।

1.देखने का स्थान

2।बातचीत के दौरान इंफेक्शन

3।भीड़ में

4।जोर से साँस छोड़ते, खांसते-छींकते, चिल्लाते, गाते समय

ये फैक्टर्स के आधार पर अलग-अलग स्थानों पर खतरे के स्तर का पता लगाकर को विभाजित रिस्क इंडेक्स बनाया गया है। ये फैक्टर्स के हिसाब से जानते हैं कि कहां, कैसे रिस्क है? और आपको क्या होटल रखनी चाहिए-





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *