Share this


PATNA : अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड (Sushant Singh Rajput Case) मामले में अब इडी की इंट्री हो गयी है. इडी ने बिहार पुलिस से सुशांत की मौत के सिलसिले में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती और कुछ अन्य पर दर्ज एफआइआर की कॉपी मांगी है. इडी ने इस संबंध में बिहार पुलिस को पत्र लिखा है. इडी धनशोधन रोकथाम कानून के तहत संभावित जांच के लिए मामले को देख रही है. अधिकारियों के मुताबिक, इडी राजपूत के धन और उनके बैंक खातों के कथित दुरुपयोग के आरोपों की जांच करना चाहता है. एजेंसी इसकी भी जांच करेगी कि क्या किसी ने राजपूत के पैसों का इस्तेमाल काले धन को सफेद में बदलने में किया और अवैध संपत्तियां बनायीं. इस बीच, सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को सुशांत की मौत की सीबीआइ जांच की मांग करने वाली जनहित याचिका को खारिज कर दिया. सीजेआइ एसए बोबडे की पीठ ने कहा कि मुंबई पुलिस को जांच करने दीजिए. यह याचिका अल्का प्रिया के वकील ने दायर की थी. वहीं, इस प्रकरण में बिहार सरकार भी सुप्रीम कोर्ट पहुंची है.

इधर, महाराष्ट्र के गृह राज्य मंत्री शंभूराज देसाई ने कहा कि सुशांत मामले में जांच के लिए मुंबई में मौजूद बिहार पुलिस के दल ने तय प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया. बिहार पुलिस जो कर रही है, वह गलत है. मुंबई पुलिस ने एक मामला दर्ज किया है. इस मामले की जांच की जा रही है. उन्होंने कहा कि जब किसी राज्य से एक पुलिस दल जांच के लिए दूसरे राज्य में आता है, तो कुछ प्रोटोकॉल का पालन करना होता है. एक अधिकारी ने बताया कि बिहार पुलिस की टीम रिया चक्रवर्ती के घर समेत अनेक जगहों पर गयी, लेकिन अभिनेत्री अपने घर पर नहीं मिलीं.

अधिकारी ने बताया कि वे सुशांत की पूर्व गर्लफ्रेंड अंकिता लोखंडे समेत उनसे जुड़े अन्य लोगों से सवाल-जवाब कर सकते हैं. इस मामले में पुलिस ने और छह लोगों से पूछताछ की गयी है. रिया चक्रवर्ती की शीर्ष अदालत में याचिका के मद्देनजर सुशांत के पिता कृष्ण किशोर सिह और बिहार सरकार ने गुरुवार को एक कैविएट दायर की, ताकि इस मामले में कोई भी आदेश देने से पहले कोर्ट उनका भी पक्ष सुने. रिया ने बुधवार को पटना में दर्ज करायी गयी प्राथमिकी मुंबई ट्रांसफर करने और बिहार पुलिस की जांच पर रोक लगाने का कोर्ट से अनुरोध किया था. बिहार सरकार ने कोर्ट से अनुरोध किया है कि रिया की याचिका पर आदेश से पहले उसका पक्ष भी सुना जाये.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *