Share this


  • चर्चा है कि सरकार में टूट न हो इसके लिए गेहलोत कुछ नाराज विधायकों को मंत्री बना सकते हैं
  • गहलोत कुछ मंत्रियों को इस्तीफा दिलाकर पश्चिमी खेमे के विधायकों को मंत्री बना सकते हैं

दैनिक भास्कर

Jul 14, 2020, 06:36 PM IST

जयपुर। सचिन पायलट को उप मुख्यमंत्री पद से बर्खास्त करने के बाद अब अशोक गहलोत नाराज विधायकों को साधने में जुट गए हैं। सूत्रों के अनुसार, नए विवरण में अशोक गेहलोत अब 16 जुलाई को जाम का विस्तार कर सकते हैं। इसमें उन विधायकों को जगह मिल सकती है, जो नाराज हैं।

गहलोत ने आज शाम 7.30 बजे मुख्यमंत्री आवास में काउंटरिस्ट्स की बैठक बुलाई है। चर्चा है कि इस दौरान सभी मंत्री सामूहिक रूप से इस्तीफा दे सकते हैं। इसके बाद नए सिरे से कैलकुलेटर का गठन किया जा सकता है। इसमें उन विधायकों को मंत्री बनाया जा सकता है, जिनकी बागी होने की आशंका है।

अब बाली में 8 नए मंत्री बनाए जा सकते हैं

मूल्यांकन में अब तक 15 कैलकुलेटर मिनिस्टर और 10 स्टेट मिनिस्टर थे। सचिन फोर्ट, विश्वेंद्र सिंह, रमेश मीणा की बर्खास्तगी के बाद तीन जगेन खाली हुए हैं। मूल्यांकन में कुल 30 मंत्री बनाए जा सकते हैं। तीन बर्खस्तागियों के बाद कलाकारों की संख्या वर्तमान में 22 है। ऐसे में गेहलोत 8 नए मंत्री बना सकते हैं। यानी आठ विधायकों को गेहलोत अपने खेमे में मजबूती से कर सकते हैं।

पायलट खेमे के विधायक बन सकते हैं मंत्री

चर्चा है कि इससे ज्यादा विधायकों को मंत्री बनाने के लिए गेहलोत को अपने विश्वास पात्र कुछ मंत्रियों को इस्तीफा दिलाकर पायलट खेमे के विधायकों को मंत्री बना सकते हैं ताकि सदन में बहुमत परीक्षण के हालात में सरकार आसानी से बहुमत साबित कर ले।

गहलोत बोले- मैंने सभी के काम किए हैं
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि मैंने सभी के काम किए हैं, जो मांगा सभी को देने की कोशिश की है। उसके बाद भी बीजेपी के साथ हॉर्स आठ की बात आई। पार्टी तोड़ने के लिए दो तिहाई बहुमत की जरूरत होती है। जो गए हैं, उन पर बहुत बड़ा प्रेशर है, जो फैसला सार्वजनिक करके दिया गया है, वह हमारे लिए शिरोधार है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *