Share this


  • हिंदी समाचार
  • अंतरराष्ट्रीय
  • अलेक्सई नवलनी जहर अपडेट | जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल रूसी विपक्षी राजनीतिज्ञ एलेक्सी नवलनी स्वास्थ्य स्थिति पर

32 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

नवाल्नी को जर्मनी के बर्लिन स्थित चैरिट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। फोटो 23 अग की है जब उन्हें इस अस्पताल के अंदर ले जाना जा रहा था ।- फाइल फोटो

  • चैरिट हॉस्पिटल के डॉक्टर्स के मुताबिक, फिलहाल नवाल्नी आर्टिफिशियल कोमा में, लेकिन वे खतरे से बाहर हैं
  • साइबेरिया से मॉस्को लौटने के दौरान 20 अगस्त को प्लेन में 44 साल के नवल्नी की तबीयत बिगड़ गई थी

रूस के विपक्षी नेता और राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के धुर विरोधी अलेक्सी नवाल्नी की अचानक तबीयत बिगड़ने की वजह सामने आ गई है। जर्मनी के बर्लिन में नवाल्नी का इलाज करने वाले डॉक्टरों ने उन्हें जहर दिए जाने की बात कही है। बर्लिन के चैरिट हॉस्पिटल के डॉक्टर्स के मुताबिक, क्लीनिकल जांच में उनके शरीर में जहरीले रसायन मिले हैं। नवाल्नी का पहले रूस के मिंस्क के एक अस्पताल में इलाज किया गया था। वहाँ के डॉक्टर्स ने उन्हें जहर दिए जाने की बात से इनकार किया था।

जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल ने रूस से नवाल्नी की तबीयत बिगड़ने की फिटिंग की जांच करने के लिए कहा है। मर्केल और जर्मनी के विदेश मंत्री हेको मास ने एक साझा बयान कर कहा- नवल्नी की रूस की विपक्षी राजनीतिक में महत्वपूर्ण भूमिका है। यह देखता है कि रूसी अधिकारी उन्हें कोई जहर दिए जाने के मामले की पूरी जांच करते हैं। इसकी जांच ईमानदारी से की जानी चाहिए। इससे पहले ब्रिटेन ने भी यही मांग की थी।

डॉक्टर्स ने क्या कहा- वर्तमान में खतरे से बाहर हैं

चैरिट हॉस्पिटल के डॉक्टर्स के मुताबिक, फिलहाल नवाल्नी खतरे से बाहर हैं। क्लीनिकल जांच में नवाल्नी के शरीर में कोलिनेस्टेरेस इन्हिबिटर्स ग्रूप की किसी चीज से जहर फैलने के सबूत मिले हैं। हालाँकि, यह बात क्या थी इसके बारे में पता नहीं चला है। इसके बारे में पता लगाने की कोशिश की जा रही है। मेडिकल टीम को इससे शरीर के नर्वस सिस्टम पर पड़ने वाले असर के बारे में सर्तक रहने के लिए कहा गया है। उन्हें आईसीयू में रखा गया है और अब वे भी आर्टिफिशियल कोमा में है। नवाल्नी को एंटीडोट और एट्रोपिन जैसी दवाओं दी जा रही है।

क्या है कोलिनेस्टेरेस इनहिबिटर्स

कोलिनेस्टेरेस इन्हिबिटर्स केमिकल का एक ऐसा समूह है जो एलजाइमर (भावना की बीमारी) जैसी बीमारी के इलाज में इस्तेमाल होता है। नर्व एजेंट और पेस्टिसाइड के साथ इसके इस्तेमाल पर यह इंसानों के लिए खतरनाक हो सकता है। यह इंसानों के शरीर में पहुंचने पर नसों से मंशेशियों के बीच काम करने पर असर डालना शुरू कर देता है। मंशेशियाँ फैलना और सिकुड़ना बंद कर देती हैं। ऐसा होने पर सांस लेने में कठिनाई होने लगती है और आदमी बेहोश हो जाता है।

पांच दिन पहले बिदरी नवल्नी की तबीयत थी

साइबेरिया से मॉस्को लौटने के दौरान 20 अगस्त को प्लेन में 44 साल के नवल्नी की तबीयत बिगड़ गई थी। उसके बाद प्लेन की ओमस्क में इमरजेंसीयन करवाई गई और नवाल्नी को बेहोशी की हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पहले तो मेडिकल लाइट्स का हवाला देते हुए नवल्नी को इलाज के लिए रूस से बाहर भेजने की इजाजत देने से इनकार कर दिया गया था। हालांकि, तीन दिन बाद उन्हें एयर एकारेंस से जर्मनी ले जाने की इजाजत दे दी गई थी। तब से वे जर्मनी के चैरिट अस्पताल में भर्ती हैं।

भ्रष्टाचार के खिलाफ मुहिम के लिए जाने जा रहे हैं

वे पुतिन के खिलाफ खुलकर बोलते रहे हैं। भ्रष्टाचार के खिलाफ शुरू की गई मुहिम के लिए भी जाने जा रहे हैं। उन्होंने 2018 में पुतिन के खिलाफ राष्ट्रपति चुनाव लड़ने के लिए नॉमिनेशन भी फाइल किया था। हालांकि, फैंस के मामले की वजह से उनके चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी गई थी। नवाल्नी ने आरोपों से इनकार किया था। उन्होंने कहा था कि भ्रष्ट नेताओं के खिलाफ बोलने की वजह से उन पर आरोप लगाए गए थे।

आप ये खबरें भी पढ़ सकते हैं:

1 है। पुतिन के कट्टरपंथी आलोचक रहे विपक्षी नेता अलेक्सी नवलनी वेंटीलेटर पर; प्लेन में अचानक तबीयत बिगड़ी, चाय में जहर दिए जाने का शक

२। बीते साल पुतिन की कमाई में 11 लाख रु। से ज्यादा का इजाफा हुआ, अब उनकी सालाना आमदनी 1 करोड़ के करीब है

३। रूस और चीन के वैक्सीन अप्रूव हुए; भारतीय वैक्सीन को क्यों लग रही है; हमें कब से मिलने लगेगा वैक्सीन?

0



Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *