Share this


वॉशिंगटन15 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

व्हाइट हाउस में प्रवासियों के नागरिकता शपथ समारोह की शीर्ष करते राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प।

  • व्हाइट हाउस में रिपब्लिकन नेशनल कन्वेंशन के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने लीगल इमिग्रेशन पर अपना समर्थन दिखाया
  • ट्रम्प ने दावा किया कि उनके 4 साल के कार्यकाल में प्रवासियों के लिए काफी कुछ किया गया था

विवादित वीजा नीति और अप्रवासी नागरिकों को लेकर लिए गए फैसले पर फजीहत करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अब प्रवासी नागरिकों को चुनावी फायदा के लिए दुखने में जुट गए हैं। बुधवार को इसकी बानगी देखने को मिली। ट्रम्प ने व्हाइट हाउस में न केवल प्रवासियों के नागरिकता शपथ समारोह की रूपरेखा की बल्कि खुद को प्रवासियों का सबसे बड़ा हितैषी भी बताया।

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, व्हाइट हाउस में रिपब्लिकन नेशनल कन्वेंशन के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने लीगल इमिग्रेशन पर अपना समर्थन दिखाया। इस दौरान भारतीय सॉफ्टवेयर डेवलपर सुधा सुंदरी सहित 5 प्रवासियों को अमेरिकी नागरिकता की शपथ दिलाई।

इस दौरान उन्होंने दावा किया कि उनके 4 साल के कार्यकाल में प्रवासियों के लिए काफी कुछ किया गया है। 10 मिनट के इस समारोह में ट्रम्प ने कहा कि कुछ लोग सटकर राजनीतिक लाभ उठाने के लिए उन्हें प्रवासियों के खिलाफ जाने की कोशिश में मना कर रहे हैं।

ट्रम्प ने भारतीय सॉफ्टवेयर डेवलपर सुधा सुंदरी को अमेरिकी नागरिकता की शपथ दिलाई।

ट्रम्प ने भारतीय सॉफ्टवेयर डेवलपर सुधा सुंदरी को अमेरिकी नागरिकता की शपथ दिलाई।

भारतीय परिवेश में दिखीं सुधा

समारोह में सुधा भारतीय परिवेश में दिखीं। इसे ट्रम्प ने भी नोटिस किया था। उन्होंने सुधा सुंदरी नारायणन के बारे में बताया कि वह 13 साल से अमेरिका में रह रही हैं और उनके परिवार में उनके पति और दो प्यारे बच्चे हैं। ट्रम्प ने उनकी ओर सिर घुमाकर पूछा, ‘वे आपके जीवन की अनिश्चितकीमती चीज हैं, सही कहा?’ इस पर नारायणन ने ’हां’ में सिर हिलाया।

सुधा के साथ होमलैंड सिक्यॉरिटी सेक्रटरी चाड वुल्फ ने सूडान की एक पशुचिकित्सा, एक बोलिविया, एक लेबनान और एक घाना से आए प्रवासियों को अमेरिका की नागरिकता दिलाई। ट्रम्प इस कार्यक्रम के माध्यम से खुद को प्रवासियों का सबसे बड़ा हितैषी बताने में जुटे थे। यही कारण है कि उन्होंने अलग-अलग संस्कृति और समुदाय के लोगों को नागरिकता देने के लिए चुना है।

रिपब्लिकन ने ट्रम्प को नरम दिल इंसान के रूप में पेश करने की मुहिम शुरू की

अमेरिका में रिपब्लिकन पार्टी मानने लगी है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का उग्र स्वभाव उनकी चुनीवी जीत में बड़ी बाधा बन सकता है। प्रतिद्वंद्वी डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बिडेन अपने शांत स्वभाव का फायदा पा सकते हैं। इसलिए अब रिपब्लिकन ने ट्रम्प को नरम दिल इंसान के रूप में पेश करने की मुहिम शुरू कर दी है।

इसका मकसद उन आश्रय शहरी वेटरों का विश्वास फिर हासिल करना है, जो कोरोना संकट में ट्रम्प के रूखे स्वभाव की ओर झूठ के कारण उन्हें दूर होते जा रहे हैं। ट्रम्प की 2016 की जीत में ये शीटरों की महत्वपूर्ण भूमिका थी।

ये उपनगरों में गरीब, अश्वेत, प्रवासी लोग ज्यादा रहते हैं

फॉक्स न्यूज डेवलपर के मुताबिक ट्रम्प ने तब उत्तरी एंटिना के उपनगरों को 24 अंकों से जीता था। इस बार वे यहाँ 21 अंक से हार सकते हैं। में ट्रम्प 10 अंकों से जीते गए थे। अब 6 अंक से हार सकते हैं। रिपब्लिकन राष्ट्रपति चुनाव में हारने वालों में 1980 से सिर्फ तीन बार 1992, 1996, 2008 में हारी है। ये उपनगरों में गरीब, अश्वेत, प्रवासी लोग ज्यादा रहते हैं।

उधर, ट्रम्प की चुनाव प्रचार टीम ने स्टर नो मिस्टर नाइस गाई ’(कोई नरम दिल इंसान नहीं है) विज्ञापन किया है। इसका उद्देश्य डेमोक्रेट के उस अभियान को लक्ष्य बनाना है, जिसमें प्रचारित किया गया था कि बिडेन करुणा के प्रतीक हैं।

0



Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *