Share this


  • हिंदी समाचार
  • अंतरराष्ट्रीय
  • चीनी कंपनियों के कार्यालय पाक में खुलेंगे, चीनी राजदूत जिंग ने कहा कि पाकिस्तान हमारे लिए व्यापार का उभरता हब है

इस्लामाबाद2 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट

इस्लामाबाद में प्रधानमंत्री इमरान खान ने 10 बड़ी चीनी कंपनियों के अधिकार के साथ बैठक की।

  • इमरान खान ने 10 बड़ी चीनी कंपनियों के अधिकारियों के साथ बैठक में यह जानकारी दी
  • इमरान ने कहा कि सरकार चीनी अधिकारियों को हर संभव सुविधा उपलब्ध कराएगी

पाकिस्तान में चीनी कंपनियां अपने क्षेत्रीय कार्यालय खोलती हैं। इस्लामाबाद में प्रधानमंत्री इमरान खान ने 10 बड़ी चीनी कंपनियों के अधिकार के साथ बैठक में यह जानकारी दी। ये कंपनियां ऊर्जा, कृषि, वित्त और संचार क्षेत्र की हैं। बैठक में चीनी राजदूत यो जिंग और पाकिस्तान के मंत्री व अधिकारी शामिल थे।

पाकिस्तानी पत्र द डॉन के मुताबिक, इमरान ने कहा कि सरकार चीनी अधिकारियों को हर संभव सुविधा उपलब्ध कराएगी। हमारी प्राथमिकता पाकिस्तान-चीन व्यापार संबंध अत्यंत मजबूत बनाना है। जबकि, चीनी राजदूत जिंग ने कहा कि चीन के लिए पाकिस्तान व्यापार का उभरता हब है। प्रधानमंत्री इमरान ने स्पष्ट रूप से घोषणा की थी कि सीपीईसी चीन और पाकिस्तान के बीच संबंधों को मजबूत करेगा। सरकार ने यह फैसला लिया था कि जब लिया गया है, जब एफएटीएफ ने उसे आतंकी गतिविधियों पर अंकुश नहीं लगाया पाने पर सेवकलिस्ट में डालने की चेतावनी दी है। जबकि पाकिस्तान पर अन्य देशों का भारी कर्ज है।

टैगके में पत्रकार ने पाकिस्तान का झंडा उतारा

टैगके के दादयाल शहर में पत्रकार- एक्टिविस्ट तनवीर अहमद ने पाकिस्तान का झंडा उतार दिया था। तनवीर झंडा उतारने की मांग को लेकर भूख हड़ताल पर बैठे थे। जब प्रशासन ने बात नहीं मानी तो उन्होंने खुद झंडा उतार दिया। पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। तनवीर को धमकियां मिल रही हैं।

नदियों के बांधने के खिलाफ मशाल रैली; नारे लगे- नीलम, झेलम बहने दो

  • टैगके के मुजफ्फग्राम में हजारों लोगों ने नीलम और झेलम नदियों पर बांध बनाने के प्रोजेक्ट के खिलाफ मशर रैली निकाली। ये चीन की कंपनियों को बना रहे हैं। इसके लिए उसने पाकिस्तान से डील की है। प्रदर्शनकारियों ने नारे को लागू किया- िया दरिया रेमो, मुजफ्फग्राम रिसो ’, लम नीलम, झेलम बहने दो, हम जिंदा रहने वाला।’
  • पिछले महीने पाकिस्तान और चीन ने रियाके में आजाद पट्टन और कोहला हाइड्रोपावर प्रोजेक्टों की डील की है। आजाद पट्टन चीन-पाकिस्तान इकोनोमिक कॉरिडोर (सीपीईसी) के हिस्से के रूप में 700.7 टन बिजली उत्पादन का प्रोजेक्ट है। इसमें चीन की जियोझाबा कंपनी 11,432 करोड़ रुपये का निवेश कर रही है।
  • कोहला प्रोजेक्ट झेलम नदी पर है। यह टैगके के सुधानोटी जिले में आजाद पट्टन पुल से लगभग 7 किमी और इस्लामाबाद से 90 किमी दूर चल रहा है। इसके 2026 तक पूरा होने की उम्मीद है। इसमें बाल थ्री गोरजेस कोर्प, इंटरनेशनल फाइनेंस कोर्प और सिल्क बोर्ड फंड निवेश कर रहे हैं।

0



Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *