Share this


जूबा5 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट

दक्षिण सूडान में 2013 से जारी गृह युद्ध में अब तक 3 लाख 80 हजार लोग मारे जा चुके हैं। (फाइल फोटो)

  • दक्षिण सूडान के टोंज शहर में सैनिकों ने लोगों को हथियार छोड़ दिया, इसके लिए शनिवार को ऑपरेशन चलाया गया था
  • इस दौरान इलाके के कुछ युवा सैनिकों से असहमत दिखे, जिसके बाद दोनों के बीच हिंसक झड़प शुरू हो गई

दक्षिण सूडान में नागरिकों और सैनिकों के बीच हिंसक झड़प में 127 लोगों की मौत हो गई। आर्मी प्रवक्ता मेजर जनरल लूल रुइ कोआंग ने बुधवार को ये जानकारी दी। उन्होंने एजेंसी एजेंसी एएफपी को बताया कि यह घटना शनिवार की है। द.सूडान के टोंज शहर में सैनिकों ने शनिवार को नागरिकों को हथियार छोड़ने के लिए एक ऑपरेशन किया था। लेकिन, यह साम्प्रदायिक झड़प में बदल गया था।

गृह युद्ध में जकड़े द.सुदन में आए दिन लोगों के हमले होते रहते हैं। इस कारण से अपनी सुरक्षा के लिए कई समुदाय हथियार रख रहे हैं। आर्मी प्रवक्ता ने बताया कि टोंज में सैनिकों के इस ऑपरेशन से कई हथियार लिए युवा असहमत थे, जिसके बाद उनमें टकराव शुरू हो गया। शुरुआत में स्थिति पर नियंत्रक कर लिया गया था, लेकिन इस बीच युवाओं ने वहां और लोगों को जुटा लिया।

2 अफसर गिरफ्तार

आर्मी प्रवक्ता के मुताबिक, हिंट झड़प में कुल 127 लोग मारे गए हैं। इनमें 45 सैनिक हैं, जबकि 82 जवान हैं। वहीं, 32 सैनिक घायल भी हुए हैं। हिंसा भड़काने में शामिल दो सैन्य अफसरों को गिरफ्तार किया गया है। वर्तमान में, तोंज का वातावरण शांत है।

2013 से गृहयुद्ध जारी

दक्षिण सूडान में 2013 से गृहयुद्ध जारी है। अब तक 3 लाख 80 हजार लोग मारे जा चुके हैं। 12 लाख से ज्यादा लोग विचलित हो चुके हैं। यहाँ निरस्तीकरण एक बड़ी समस्या है। विशेषज्ञों ने ऐसे ऑपरेशन के खिलाफ चेतावनी दी है। उनका कहना है कि बिना बेहतर प्लानिंग के लोगों को हथियार छोड़ने के लिए नहीं कहा जा सकता है। क्योंकि, कुछ समुदाय को लगता है कि हथियार छोड़ने के बाद वे खुद की सुरक्षा नहीं कर पाएंगे।

0



Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *