Share this


वॉशिंगटन22 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

मंगलवार रात नॉर्थबॉलिना में चुनावी रैली के दौरान डोनाल्ड ट्रम्प। उन्होंने कहा- कमला हैरिस राष्ट्रपति बनना चाहते थे। जनता ने मना कर दिया। अब डेमोक्रेटिक पार्टी उन्हें उपराष्ट्रपति बनाने पर तुली है।

  • डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा- यह बात माननी चाहिए कि लोग कमला हैरिस को बिल्कुल पसंद नहीं करते
  • बाइडेन पर अमेरिकी राष्ट्रपति ने एक बार फिर तंज कसा, कहा- वे जीत का सपना देख रहे हैं

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने डेमोक्रेट पार्टी के प्रेसिडेंशियल कैंडिडेट जो बाइडेन को एक बार फिर चीन के प्रति नर्म रुख अपनाने पर घेरा दिया। मंगलवार रात नॉर्थबॉलिना में चुनावी रैली के दौरान ट्रम्प ने कहा- मैं फिर से दोहरा रहा हूं। अगर बाइडेन जीत गई तो यह उनकी नहीं, बल्कि चीन की जीत होगी। डेमोक्रेट पार्टी की तरफ से उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार कमला हैरिस को लेकर ट्रम्प ने कहा- अगर वे जीत गए, तो यह अमेरिका की बेइज्जती होगी।

कमला को लोग पसंद नहीं करते
रैली के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति ने डेमोक्रेट पार्टी पर देश के हितों की अनदेखी का आरोप लगाया। उसके प्रत्याशियों पर तंज कसे। कहा- मैं जो कह रहा हूं, वह याद रखना मुश्किल नहीं है। अगर जो बाइडेन जीत गई तो यह चीन की जीत होगी। इससे ज्यादा उनकी जीत के लिए और कोई मायने नहीं है। लोग कमला हैरिस को पसंद नहीं करते। अगर वे कभी राष्ट्रपति बने तो यह अमेरिका और इसके नागरिकों का अपमान होगा।

आर्थिक स्थिति बेहतर होगी
ट्रम्प ने कहा- हम उस स्थिति में हैं, जहां से अमेरिका की अर्थ व्यवस्था को और बेहतर बनाया जा सकता है। चीन के प्लेग ने समस्या पैदा की थी। लेकिन, अर्थ व्यवस्था फिर खुल गई है। कमला कभी अमेरिका की पहली महिला राष्ट्रपति नहीं बन सकती हैं। बाइडेन को ट्रम्प ने दंगियाँ और चीन का समर्थक बताया। कहा- बहुत साफ दिख रहे हैं कि दंगाई और चीन बाइडेन की जीत क्यों चाहते हैं। उन्हें अच्छी तरह मालूम है कि बाइडेन जीत तो यह अमेरिका की हार होगी।
चीन के साथ ट्रेड डील पर अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा- अब पहले से ज्यादा सख्त होंगे। ट्रम्प ने इस रैली में कोरोनावायरस को पूरे भाषण के दौरान प्लेग कहा।

हैरिस पर तल्ख बयान
नॉर्थबॉलिना की इस रैली में कमला हैरिस को लेकर ट्रम्प का रुख ज्यादा तल्ख रहा। ट्रम्प ने कहा- बहुत ही आकर्षक बात है। कमला को डेमोक्रेट पार्टी पहले राष्ट्रपति पद का प्रत्याशी बनाना चाहती थी। उन्होंने इसके लिए प्राइमरी इलेक्शन भी जारी किया। जब वे वहां कामयाब नहीं हो सकीं और लोगों ने उन्हें मना कर दिया तो वाइस प्रेसिडेंट की दौड़ में शामिल हो गए। आखिर डेमोक्रेट्स क्या करना चाहते हैं। कमला तो रेस से बाहर हो गईं थीं। लेकिन, डेमोक्रेट्स सिर्फ नोकिया जीतने के लिए कमला पर कड़ी खेल रहे हैं।

0



Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *