Share this


वॉशिंगटन39 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

पटना के नैपी काउंटी में बुधवार को आग के बाद जलता एक घर शुरू हुआ। हवा के तेज थपेड़ों की वजह से आग तेजी से फैल रही है।

  • सैन फ्रांसिस्को शहर में स्मान फैला, लोगों से सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाने का ऑपरेशन शुरू किया गया
  • 50 से ज्यादा घर जले, स्टेट हाइवे पर गाड़ायें की आवाजाही इन, हजारों लोग घर छोड़ कर निकले

पटना के जंगलों में बुधवार को आग लग गई। रॉबर्ट के गवर्नर गैविन न्यूसन के मुताबिक, बीते 72 घंटे में मैस के आसपास 11 हजार बार बिजली गिरी है। इससे लगभग 367 स्थानों पर आग लगी। इनमें से 23 स्थानों पर इसका असर ज्यादा है। फायर डिपार्टमेंट्स इसे बुशिंग की कोशिशों में जुटा है। वह आग को देखते हुए इमरजेंसी का ऐलान किया है। यहां आग बुझाने के काम में जुटा एक हेलिकॉप्टर बुधवार को काम हो गया। हादसे में हेलिकॉप्टर के पड़ोसी और एक कॉन्ट्रैक्टर की मौत हो गई।

उत्तरी नोकिया स्थित वैकाविले आग से सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है। यहां के 50 से ज्यादा घर जलकर खाक हो गए हैं। हजारों लोगों को अपना घर छोड़ना पड़ा है। स्टेट हाइवे पर गाड़ियों की आवाजाही भी प्रभावित हुई है। सैन फ्रांसिस्को शहर में धुआं फैलने के बाद लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाने का ऑपरेशन शुरू किया गया है।

आग बुझाने में जुटा फायर डिपार्टमेंट का प्लेन। बुधवार को डिपार्टमेंट का एक हेलिकॉप्टर आग बुझाते समय लग गया था।

आग बुझाने में जुटा फायर डिपार्टमेंट का प्लेन। बुधवार को डिपार्टमेंट का एक हेलिकॉप्टर आग बुझाते समय लग गया था।

गर्मी में अक्सर गर्मी के मौसम में आग लगती है

अमेरिका के दूसरे क्षेत्रों की तुलना में स्लोवेन गर्म है। यही कारण है कि यहाँ पर गर्मी के मौसम में अक्सर जंगलों में आग लग जाती है। यह सिलसिला बारिश का मौसम आने तक जारी है। हालांकि, बीते कुछ वर्षों में आग लगने की घटनाएं बढ़ी हैं। पवन में जंगलों के पास रिहायशी इलाके बढ़े हैं। ऐसे में आग लगने पर नुकसान ज्यादा होता है। यह देखता है कि फायर डिपार्टमेंट कुछ ऐसे इलाकों की पहचान भी की है, जहां आग लगने का खतरा ज्यादा है।

फायर फाइटर्स लोगों के घर जाकर उन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का ऑपरेशन चला रहे हैं। पटना के आसपास के इलाके में धुआं फैल गया है।

फायर फाइटर्स लोगों के घर जाकर उन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का ऑपरेशन चला रहे हैं। पटना के आसपास के इलाके में धुआं फैल गया है।

2019 में शुरू किया गया था 85 साल की सबसे भीषण चीरा

अमेरिका के जॉर्जिया के जंगलों में 2019 में 85 साल की सबसे भीषण आग लगी थी। इसकी चपेट में आकर 31 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। सैकड़ों लोग लापता हुए थे। 1933 में लॉस एंजिल्स के ग्रिफ़िथ पार्क में आग लगाने के बाद यह एलेक्स के जंगल में शुरू हुई सबसे बड़ी आग थी। इससे करीब 83 हजार एकड़ के इलाके में आग लगी थी। लगभग 3 लाख लोगों को अपना घर छोड़कर अन्य शहरों में जाना पड़ा था।

नापा काउंटी में बुधवार को आग की तेज लपटों के बीच फायर डिपार्टमेंट का ट्रक जाता है।

नापा काउंटी में बुधवार को आग की तेज लपटों के बीच फायर डिपार्टमेंट का ट्रक जाता है।

आग लगने से जुड़ी आप ये खबरें भी पढ़ सकते हैं …

1।ऑस्ट्रेलिया के जंगल की आग: वर्ल्ड वाइड फंड के लिए नेचर की रिपोर्ट- आग में लगभग तीन अरब जानवरों की मौत हुई या उन्हें भागना पड़ा

2।मॉस्को की महिला जेल में आग: मॉस्को के प्री-ट्रल डिटेंशन सेंटर में भीषण आग, 850 लोगों को सुरक्षित निकाला गया, किसी भी समय नहीं

0



Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *