Share this


इस्लामाबाद / नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिस्ट

पाकिस्तानी राजदूत पर आरोप है कि उन्होंने इंडोनेशिया में अपनी नियुक्ति के बाद बिना सरकार को सूचना दिए बोली बेचने की प्रक्रिया शुरू कर दी।- प्रतीकात्मक फोटो

  • पाक अधिकारियों ने कहा, बेचे जाने से 22 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ
  • पाकिस्तान ने 2001 में सैयद मुस्तफा अनवर को इंडोनेशिया का राजदूत बनाया था

पाकिस्तान के एक और अधिकारी का कारनामा सामने आया है। इंडोनेशिया में पाक के पूर्व राजदूत ने राजधानी जकार्ता में दूतावास की साझेदारी को औने-पौने दामों में बेच दिया था। मामला 19 साल पहले का है। पाकिस्तान की मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, देश के नेशनल अकाउंटबिलिटी ब्यूरो (एनएबी) ने 19 अगस्त को पूर्व राजदूत मेजर जनरल (रिटायर्ड) सैयद मुस्तफा अनवर के खिलाफ शिकायत की। निरंतर पर आरोप है कि उन्होंने 2001-02 में दूतावास की एक निर्दोष दी थी। इससे पाकिस्तान को 13.2 लाख डॉलर (लगभग 22 करोड़ पाकिस्तानी रुपए) का नुकसान हुआ।

सरकार को बिना बताए बिक्री का विज्ञापन जारी किया गया
निरंतर ने विदेश मंत्रालय की मंजूरी के बिना साझेदारी को बेचने का विज्ञापन जारी कर दिया था। जबकि, राजदूत बिना मंत्रालय की अनुमति के ऐसा नहीं कर सकता है। एनएबी का आरोप बरकरार है इंडोनेशिया में अपनी नियुक्ति के बाद जकार्ता की बोली बेचने की प्रक्रिया शुरू कर दी। प्रक्रिया शुरू होने के बाद उन्होंने मंत्रालय को प्रस्ताव भेजा। हालांकि, विदेश मंत्रालय ने बिलिंग की बिक्री पर रोक लगा दी थी और निरंतर को कई लेटर भेजने की जानकारी भी दी थी।

सुप्रीम कोर्ट ने एनएबी के अधिकारियों को अयोग्य बताया था
एनएबी की तरफ से यह एक्शन तब लिया गया है जब सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें फटकार लगाई। भ्रष्टाचार के मामले में देरी पर सुप्रीम कोर्ट ने पिछले सप्ताह कहा था कि एनएबी के अधिकारी अयोग्य हैं। ट्रिब्यून की खबर के मुताबिक चीफ जस्टिस गुलजार अहमद ने पाया था कि एनएबी अधिकारियों के पास ठीक तरह से हस्तक्षेप करने के लिए जरूरी काबिलिटी नहीं है।

पाकिस्तान से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं …
1। यूएन में पाकिस्तान के 5 झूठ उजागर: भारत ने कहा- पाकिस्तान के इस बयान पर हंसी आती है कि हमने उसके खिलाफ भाड़े के आतंकवादी रख रखे हैं।

2। पाकिस्तान में 80 साल पुराना हनुमान मंदिर तोड़ा, 20 हिंदुओं के घर भी जमींदोज; लोकलिस्टा लेखक के साथ

0



Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *