Share this


वॉशिंगटनएक घंटा पहले

  • कॉपी लिस्ट
  • अमेरिका में राष्ट्रपति चुनावों के लिए लगभग 100 दिन बचे, प्रचार में जुटी पार्टियों
  • अमेरिका के 8 राज्यों में 13 लाख भारतीय-विदेशी वेटर किसी भी ओर बाजी पलटने में सक्षम

भारतवंशी समुदाय 3 नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति चुनावों में बड़ा फेरबदल कर सकता है। दोनों ही भागों (डेमोक्रेट्स और रिपब्लिकन) के लिए इस समुदाय को लुभाना जरूरी हो गया है। अमेरिका में चुनावों के लिए लगभग 100 दिन बचे हैं। इस बार रिपब्लिक पार्टी के डोनाल्ड ट्रम्प के सामने डेमोक्रेट जो बिडेन हैं।

2016 में 77% डेमोक्रेटिक के पक्ष में थे
अमेरिका के शीर्ष डेमोक्रेटिक नेता थॉमस पेरेज ने एक वर्ग घटना में बताया कि 2016 के चुनाव में 77% भारतीय-अमेरिकी डेमोक्रेटिक पार्टी के पक्ष में थे। मौजूदा समय में इस कम्युनिटी में डेमोक्रेटिक पार्टी का प्रभाव कम हुआ है। हाल ही में हुए ईमेल में यह सामने आया कि हिलेरी का उतना प्रभाव भारतीय-विदेशी कम्युनिटी में था, बिडेन का नहीं। हालांकि, पार्टी भारतवंशियों पर असर डालने की पूरी कोशिश में है।

भारतीय-विदेशी समुदाय को साथ लिया तो बाजी पलट सकती है

थॉमस पेरेज ने बताया कि कई राज्य में भारतीय-कम्युनिटी का वोट गेमचेंजिंग है। उन्होंने 2016 के चुनावों मिशिगन, पेंसिलवेनिया और विस्कॉन्सिन में डेमोक्रेट्स की हार का जिक्र किया। पेरेज ने कहा- अगर इन जगहों पर इंडियन-अमेरिकन वोटरों को पूरी तरह से अपने पक्ष में कर लिया जाता है तो बाजी पलट सकती है।

  • मिशिगन में 1 लाख 25 हजार भारतीय-विदेशी वेटर हैं। यहां से हिलेरी क्लिंटन को 10 हजार 700 वोट से हार मिली थी।
  • पेंसिलवेनिया में 1 लाख 56 हजार भारतीय-विदेशी वेटर हैं। डेमोक्रेटिक पार्टी यहाँ पर 42 से 43 हजार वोटों से हार गई थी।
  • विस्कॉन्सिन में 37 हजार भारतीय-अमेरिकी हैं। डेमोक्रेट्स को यहां से 21 हजार वोटों से हार का सामना करना पड़ा।

अमेरिका के आठ राज्यों में 13 लाख भारतीय-विदेशी वेटर
अमेरिका में एएपीआई (एशियन-अमेरिकन और पैसिफिक आइलैंडर) के चेयरमैन शेखर नरसिम्हा ने कहा कि अमेरिका के आठ राज्यों में 13 लाख भारतीय-विदेशी वेटर हैं। ये राज्य एरिजोना (66000), विकी (193,000), जॉर्जिया (150,000), मिशिगन (125,000), नार्थ गोल्डिना (111,000), पेन्सिलवेनिया (156,000), फ्रेंच (475,000) और विडोंसिन (37,000) हैं। यह जानकारी डेटा गुरु कार्तिक रामकृष्णन की नई रिसर्च ले ली गई है।

ये खबरें भी पढ़ सकती हैं …
1बैकफुट पर अमेरिकी राष्ट्रपति: ट्रम्प ने कहा- कोरोना की समस्या हल होने तक कोई चुनावी रैली नहीं करेंगे, वोटरों से जुड़ने के लिए संचारिक रैली कर रहे हैं।

0



Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *