Share this


PATNA : बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर दोनों प्रमुख गठबंधनाें (Alliances) में सीट शेयरिंग (Seat Sharing) को लकर सरगर्मी तेज होती जा रही है। राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंघन (NDA) में लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) ने सीटों को लेकर संकेत दिया है। एलजेपी की इस दावेदारी पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) व जनता दल यूनाइटेड (JDU) ने सधी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि समय आने पर सभी मुद्दों पर विचार कर लिया जाएगा। एलजेपी के प्रवक्‍ता संजय सिंह ने कहा कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने पहले ही आश्वस्त किया है की पार्टी ने जितनी सीटों पर 2015 में चुनाव लड़ा था उतनी सीटें तो मिलेगी ही। उन्‍होंने कहा कि बीते लोकसभा चुनाव में एलजेपी और बीजेपी का स्ट्राइक रेट सौ फीसद रहा। जबकि, जेडीयू एक सीट हार गया था। इसके अनुसार हीं सीटें मिलनी चाहिए। इस बाबत बीजेपी के प्रवक्ता संजय टाइगर ने कहा सभी दल अधिक से अधिक सीटों पर लड़ना चाहते हैं। एनडीए में सीट मिलना जीत की गारंटी है। किस पार्टी को कितनी सीेटें मिलेगी और कौन कहां से लड़ेगा, ये फिलहाल कोई मुद्दा नहीं है। समय आने पर सब तय कर लिया जाएगा। जेडीयू की तरफ से मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि एलजेपी को अपनी बात रखने का अधिकार है। सभी मामले हल हो जाएंगे। एनडीए में कोई विवाद नहीं है।

विदित हो कि बीते कुछ समय से एलजेपी व जेडीयू के बीच तनाव है। एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर सरकार के कामकाज को लेकर लगातार हमलावर हैं। इसे वे मुख्‍यमंत्री पर हमला नहीं मान कर जनता की समस्‍याएं उन तक पहुंचाना बता रहे हैं। हालांकि, जेडीयू इसे चिराग का विपक्ष के सुर मिलाना बताता रहा है। हाल ही में कोरोना संक्रमण के इलाज तथा जांच के मुद्दे पर जब चिराग पासवान ने नीतीश सरकार को घेरा तो दोनों दलों के नेता आमने-समाने आ गए थे। उधर, कुछ दिनों पहले राम विलास पासवान ने चिराग पासवान में मुख्‍यमंत्री बनने की योग्‍यता की बात भी कही थी। हालांकि, यह भी कहा था कि इसके लिए जल्‍दी नहीं है। अब सीटों को लेकर एलजेपी के दावे ने फिर नया विवाद खड़ा कर दिया है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *