Share this


PATNA : विधानसभा चुनाव के पहले भारतीय जनता पार्टी अहम फैसला लेने जा रही है। बीजेपी ने 22 और 23 अगस्त को प्रदेश कार्यसमिति की बैठक बुलाई है। कोरोना काल को देखते हुए यह बैठक वर्चुअल तरीके से होगी लेकिन बैठक में चुनावी एजेंडे के साथ-साथ सहयोगी दलों को लेकर कोआर्डिनेशन पर भी चर्चा होगी। 22 और 23 अगस्त को होने वाली बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ-साथ संगठन महामंत्री बीएल संतोष बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव और चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस भी जुड़ेंगे। इसके अलावे प्रदेश बीजेपी के तमाम बड़े नेता और कार्यसमिति सदस्य बैठक में मौजूद रहेंगे।

दरअसल भारतीय जनता पार्टी कार्यसमिति की बैठक में चुनाव को लेकर रणनीति बनाएगी बैठक में इस बात पर भी चर्चा होगी कि चुनाव का एजेंडा क्या रखा जाए। बीजेपी के सहयोगी दल अब तक अलग-अलग चुनावी एजेंडे की बात करते रहे हैं। जेडीयू नीतीश कुमार के चुनावी एजेंडे को लेकर जनता के बीच जाने की तैयारी में है तो वहीं एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान ने अपना चुनावी एजेंडा तैयार किया है। लेकिन अब भारतीय जनता पार्टी इस बात पर निर्णय लेगी की सहयोगी दलों के एजेंडे को जोड़ते हुए एनडीए का एक कॉमन एजेंडा बनाया जाए। अगर ऐसा होता है तो नीतीश कुमार से लेकर चिराग पासवान तक का एजेंडा बीजेपी एनडीए के साझा एजेंडे में शामिल करेगी।

चुनावी एजेंडे को लेकर चिराग पासवान और नीतीश कुमार पहले ही आमने-सामने दिख चुके हैं। एलजेपी लगातार यह कह रही है कि एनडीए के कॉमन एजेंडे में उसके मुद्दे भी जुड़ जाएं जबकि जेडीयू का एजेंडा नीतीश के सात निश्चय के इर्द-गिर्द घूमता है। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी अगर कोई कॉमन मिनिमम प्रोगाम बनाने और कोआर्डिनेशन के साथ एक साझा मेनिफेस्टो बनाने की तरफ कदम आगे बढ़ाती है तो कोई अचरज नहीं होगा। फिलहाल इस सब के लिए बीजेपी प्रदेश कार्यसमिति की बैठक तक इंतजार करना होगा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *