Share this


लाहौर30 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

2012 में अमेरिका ने हाफिज सईद पर लगभग 73 करोड़ रुपये का इनाम रखा था। -फाइल फोटो

  • अमेरिका ने हाफिज सईद पर लगभग 73 करोड़ रुपये का इनाम रखा है
  • हाफिज को टेरर फंडिंग का दोषी पाया जाने पर 11 साल जेल की सजा मिली है

पाकिस्तान फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) की ग्रे लिस्ट में फिर से आने से बचने के लिए लगातार आतंकवादियों पर कार्रवाई का ढोंग कर रहा है। अब यहाँ कि एंटी-टेर्रीज्म कोर्ट (AttS) ने शुक्रवार को आतंकी संगठन जमात-उद-दावा के तीन बड़े नेताओं को कैद की सजा सुनाई। सजा पाने वालों में मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद का बहनोई हाफिज अब्दुल रहमान मक्की भी शामिल है। हालांकि, उसे सिर्फ 1.5 साल की कैद की सजा सुनाई गई है। अन्य दो को साढ़े 16 साल की कैद की सजा सुनाई गई है।

अटसी ने जफर इकबाल और हाफिज अब्दुस सलाम बिन मुहम्मद को साढ़े 16 साल की सजा के साथ उन पर डेढ़-डेढ़ लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है। हाफिज सईद के बहनोई मक्की पर 20,000 रुपए का जुर्माना लगाया गया है। मक्की और हाफिज अब्दुस को लाहौर हाईकोर्ट ने टेरर फंडिंग के दूसरे मामले में दो सप्ताह पहले ही जक्शन पर रिहा किया था।

कड़ी सुरक्षा के बीच शुक्रवार को कोर्ट में सुनवाई हुई। एक अधिकारी ने बताया कि अटसी के जज एजद अहमद बुटीक ने फैसला सुनाया। पिछले सप्ताह ही अभिव्यक्तियों को इस मामले में आरोपी बनाया गया था।

हाफिज अभी जेल में बंद

फरवरी में लाहौर के एक अटसी ने सईद को टेरर फंडिंग का दोषी पाया जाने के बाद 11 साल जेल की सजा सुनाई थी। कोर्ट ने सईद और उसके करीबी सहयोगी जफर इकबाल को दो मामलों में साढ़े पांच साल की सजा सुनाई। सईद लाहौर की कोट लखपत जेल में बंद है। उसे पिछले साल जुलाई में गिरफ्तार किया गया था।

मुंबई हमले में 166 लोग मारे गए थे

पंजाब पुलिस के काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट ने राज्य के कई शहरों में टेरर फंडिंग के लिए सईद और उसके गुर्गों के खिलाफ 23 एफआईआर दर्ज की थी। सईद के नेतृत्व वाले जमात-उद-दावा, लश्कर-ए-तैयबा का सबसे बड़ा संगठन है। यह 2008 के मुंबई हमले को अंजाम देने के लिए जिम्मेदार है। इस हमले में 166 लोग मारे गए थे, जिनमें छह अमेरिकी भी शामिल थे।

हाफिज सईद ग्लोबल टेररिस्ट

अमेरिका ने सईद को ग्लोबल टेररिस्ट भी घोषित किया है और 2012 के बाद से उस पर 10 मिलियन डॉलर (लगभग 73 करोड़ रु।) का इनाम भी रखा गया है। उसे दिसंबर 2008 में सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव 1267 के तहत भी आतंकवादी घोषित किया गया था।

पाकिस्तान से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं
1। ब्रिटेन से नहीं लौट रहे नवाज: इमरान खान ने कहा- पूर्व प्रधानमंत्री शरीफ को देश छोड़ने देना मेरी सरकार की गलती, अब हमें शर्मिंदगी महसूस होती है
2। पाकिस्तान के लिए जोर बन गया: मोस्ट वॉन्टेड डॉन इब्राहिम से छुटकारा पाना चाहता है इमरान सरकार, आर्मी भी उसे खत्म कर देना चाहती है, लेकिन पाक से बाहर

0



Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *