Share this


  • हिंदी समाचार
  • अंतरराष्ट्रीय
  • पाकिस्तान इमरान खान मंत्री | कश्मीर मुद्दे पर शाह महमूद कुरैशी सऊदी अरब; एमरी चीफ मीट्स क़मर जावेद बाजवा मीट्स सऊदी एनवॉय

इस्लामाबाद3 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट

पाकिस्तान के आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा ने सऊदी अरब के राजदूत से सोमवार को मुलाकात की। उन्होंने दोनों देशों के आपसी संबंध से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की।-फाइल फोटो

  • पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कश्मीर मुद्दे पर साथ नहीं देने के लिए दो बार सऊदी अरब की आलोचना की थी
  • पाकिस्तान से नाराज सऊदी ने इसे कर्ज की रकम लौटाने को कहा था, पाकिस्तान ने चीन से उधार लेकर अपनी पहली किश्त चुकाई

पाकिस्तान और सऊदी अरब के बीच बढ़ी दूरियों को आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा ने कम करने की पहल की है। बाजवा ने सोमवार को सऊदी अरब के राजदूत नवफ सईद अल-मलकी से मुलाकात की। पाकिस्तानी सेना के मुताबिक, बाजवा ने सऊदी के राजदूत से आपसी मतभेद, क्षेत्र में सुरक्षा की स्थिति और दोनों देशों के बीच रक्षा संबंधों को मजबूत करने पर चर्चा की। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कश्मीर मुद्दे पर साथ नहीं देने के लिए दो बार सऊदी अरब की आलोचना की थी। प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी इसे लेकर सऊदी अरब पर तंज कसा था। इससे सऊदी अरब पाकिस्तान से नाराज है।

कुरैशी के बयान को पाकिस्तान की कई विपक्षी पार्टियों ने देश के हितों के खिलाफ बताया था। विपक्ष ने इमरान सरकार पर सऊदी और यूएई से पाकिस्तान के रिश्ते खराब करने का आरोप लगाया था। विपक्षी भागों ने कहा था कि मुल्क को इसकी खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।

पाकिस्तान को चुकाना पड़ा सऊदी अरब का कर्ज

सऊदी अरब ने पाकिस्तान से 3 अरब डॉलर (लगभग 22 हजार करोड़ रुपए) लौटाने को कहा था। सऊदी अरब ने पाकिस्तान को यह राशि दीढ़ साल पहले उस समय दी थी, जब पाकिस्तान दिवालिया होने की कगार पर था। इसके बाद पाकिस्तान को चीन से एक अरब डॉलर उधार लेकर सऊदी के कर्ज की पहली किश्त चुकानी पड़ी।

सऊदी और पाकिस्तान का रिश्ता क्यों बिगड़ा?

पाकिस्तान और सऊदी के रिश्तों में कड़वाहट कश्मीर मुद्दे पर शुरू हुई। दरअसल, पाकिस्तान चाहता है कि इस मुद्दे पर चर्चा के लिए ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कंट्रीज (ओआईसी) की मांगों को बुझाया जाए। लेकिन, सऊदी अरब ओआईसी बैठक बुलाने और इस मुद्दे पर विचार के लिए तैयार नहीं हैं। इसने साफ तौर पर पाकिस्तान को इसके लिए मना कर दिया है।

कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान को नहीं मिल रहा समर्थन

पिछले साल जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से पाकिस्तान आंतरिक मंचों पर यह मुद्दा उठा रहा है। हालांकि यह समर्थन नहीं मिल रहा है। इसी सप्ताह पाकिस्तान ने यूएन सिक्योरिटी काउंसिल में कश्मीर मुद्दे को उठाने की कोशिश की थी। पाँच स्थायी देशों में से सिर्फ चीन ने उसका साथ दिया। ओआईसी में भी उसको समर्थन हासिल नहीं है। यूएन और ओआईसी में सिर्फ तुर्की उसका साथ देता है। मलेशिया ने भी हाथ पीछे खींच लिए हैं।

पाकिस्तान से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें:

1।कर्ज के बारे में कर्जदार पाकिस्तान: इमरान सरकार ने चीन से एक अरब डॉलर उधार लिए, सऊदी अरब के कर्ज की किश्त चुकाई; अभी तक अरब डॉलर और देने वाले हैं

2।सऊदी से टकराने गए पाकिस्तान: इमरान के विदेश मंत्री कुरैशी बोले- जरूरत के वक्त के पीछे हट जाते हैं सऊदी अरब, उन्होंने कश्मीर मामले में मदद नहीं की

3।सुरक्षा परिषद में भारत: ओपन डिबेट में भारत ने पाकिस्तान पर निशाना साधा, कहा- हमारी देश सीमा पार के आतंकवाद से पीड़ित रही है।

0



Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *