Share this


  • हिंदी समाचार
  • अंतरराष्ट्रीय
  • तीन भारतीय फार्मास्युटिकल कंपनियों ने नेपाल में जीवन की बचत के साथ एंटी वायरल रेमेडिसविर का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है।

काठमांडू20 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

क्रिटिकल रोगियों के इलाज के लिए रेमडेसिवर दवा कारगार। (फाइल फोटो)

  • फार्मा कंपनियों माइलान, सिप्ला और हेटेरो ड्रग्स ने नेपाल में दवा की सप्लाई शुरू की
  • नेपाल ने सबसे पहले 570 शीशियों का नंबर दिया, जिसकी डिलीवरी भी हुई

भारत की तीन फार्मास्युटिकल कंपनियों ने नेपाल को जीवनरक्षक दवा रेमदिविविर की सप्लाई शुरू कर दी हैं। एंटी वायरल दवा का इस्तेमाल कोरोना मरीजों के इलाज के लिए किया जाता है। यह दवा अब तक नेपाल में उपलब्ध नहीं थी।

ड्रगिसा डिपार्टमेंट के डायरेक्टर जनरल नारायण प्रसाद ठकाल ने कहा कि हमने रेमदेसीवीर की सप्लाई के लिए तीन कंपनियों को इजाजत दी है। हमारी मांगों के हिसाब से माइलान, सिप्ला और हेट्रो ड्रग्स एंटी वायरल दवा की आपूर्ति करेंगे। हम केवल इन कंपनियों द्वारा आपूर्ति की गई एंटी-वायरल के इस्तेमाल की इजाजत करेंगे।

भारत से दवा मंगाने में लागत कम है

उन्होंने कहा कि इनमें से माइलान ने नेपाल को एंट वायरल की डिलीवरी शुरू कर दी है। सबसे पहले हमने इसकी 570 शीशियों का नंबर दिया है, जिसकी डिलीवरी भी हो चुकी है। उन्होंने कहा कि भारतीय कंपनियों तक पहुंच आसान है। वहाँ से इसे मंगाने में लागत बहुत कम आती है, इसलिए हमने उन्हें अनुमति दी।

अभी विशेष व्यवस्था के तहत दवा मंगानी पड़ती है

रेमडेसिविर उन रोगियों के लिए प्रभावी साबित हुआ है, जिन्हें इंटेसिव कैर यूनिट (आईसीयू) में रखा गया है। डीजी ढकाल ने कहा, ‘में नेपाली बाजार में आने वाले एक शीशी की कीमत लगभग 7,800 नेपाली रुपए होगी।’ ’नेपाल में जो मरीज क्रिटिकल होते हैं, उनके परिवार को विशेष व्यवस्था के तहत इसे भारत से मंगाना पड़ता है। नेपाल में आने से यह आसानी से उन लोगों के लिए उपलब्ध होगा। साथ ही उनके खर्च में भी बचत होगी।

भारत हमेशा आगे के लिए मदद करता है

नेपाल के ड्रगिसा डिपार्टमेंट के डायरेक्टर जनरल ने बताया कि हमेशा भारतीय कंपनियों को ड्रग्स और फार्मास्युटिकल्स एक्स के लिए भुगतान आता है। अन्य देशों से दवाओं के आयात की इजाजत जिन 123 कंपनियों को मिली है, उनमें से आधे से ज्यादा भारतीय कंपनियां हैं, जो यूरोप या अमेरिका में हेडक्वॉर्टर वाली पैरेंट कंपनियों के लिए अलग-अलग रूप में काम करती हैं।

0



Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *