Share this


  • हिंदी समाचार
  • अंतरराष्ट्रीय
  • यूएई इजरायल यूएस डील | यूएई अब समाप्त होता है इज़राइल बहिष्कार कानून यूएई के राष्ट्रपति खलीफा बिन जायद अल नाहयान ने एक फरमान जारी किया।

अबु धाबी / तेल अवीवएक घंटा पहले

  • कॉपी लिस्ट

फोटो 16 अगस्त को इजराइल और यूएई के शांति समझौते के बाद की है। इजराइली शहर इडान्या के शांति सेतु (पीस ब्रिज) पर इजराइल और यूएई के झंडे दिखाई दे रहे हैं।) सोमवार को अमेरिका, इजराइल और यूएई के बीच बेहद महत्वपूर्ण बैठक होने जा रही है।

  • यूएई ने 1972 में एक कानून बनाया था, इसके तहत इजराइल को पूरी तरह से बैकरॉट किया गया था
  • अमेरिका ने दोनों देशों के बीच ऐतिहासिक शांति समझौते किए, अब सभी तरह के रिश्ते बहाल होंगे

इजराइल और यूएई के नए अनुकूल रिश्ते बेहतर पकड़ने लगे हैं। यूएई ने शनिवार को 48 साल पुराने उस कानून को पूरी तरह खत्म कर दिया, जिसके तहत इजराइल को बकरकोट किया गया था। इसके लिए यूएई के प्रमुख शासक खलीफा बिनतद अल नाह्याँ ने बाकायदा आदेश जारी किया।

सोमवार 31 अगस्त भी महत्वपूर्ण होगा। इजराइल और अमेरिका के आला अफसरों का एक समूह अबु धाबी पहुंचेगा। इनकी कई दौर की बैठकें होंगी। माना जा रहा है कि इजराइल और यूएई के बीच महत्वपूर्ण प्रवृत्ति एग्रीमेंट हो सकती है।

ट्रम्प का पूरा हस्तक्षेप
इज़राइल और अमेरिका का डेलिगेशन सोमवार सुबह 10 बजे तेल अवीव से अबुधाबी के लिए उड़ान भरी। इस डेलिगेशन में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के विशेष एड्वेजर जेरैड कुशनर भी होंगे। उनके अलावा इजराइल और अमेरिका के आर्थिक और सैन्य मामलों से जुड़े आला अफसर भी होंगे। यह समझा जा सकता है कि यह मिलना बहुत महत्वपूर्ण है।

जिन धारणाओं की उम्मीद है
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक बात तो तय है कि यूएई और इजराइल बहुत जल्द एक-दूसरे के देश में एम्बेसी शुरू करेंगे। इससे डिप्लोमैटिक संबंध की प्रतिकूल शुरुआत होगी। व्यावसायिक रिश्तों के लिए कुछ महत्वपूर्ण समझौते हो सकते हैं। इजराइल अमेरिका की तर्ज पर यूएई को भी ट्रेड पार्टनर का दर्जा दे सकता है। यूएई को ईरान सेone है। इजराइल उसकी इस खतरे से निपटने में काफी मदद कर सकता है। लिहाजा, कल किसी सैन्य समझौते की भी संभावना है।

1972 के कानून खत्म होने के क्या मायने हैं
अब यूएई के व्यवसायी इजराइली कंपनियों से व्यवसायिक संबंध बनाएंगे। इजराइली प्रोडक्ट बिना किसी रोकटोक के यूएई के प्लेटफार्मों में बेचे जा सकते हैं। हालांकि, यह भी सही है कि बैकडोर डिप्लोमैसी के चलते दोनों देश 20 साल से संपर्क में थे। अमेरिका में एक तरह से क्रूरता कर रहा था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 20 साल में करीब 500 इजराइली कंपनियों ने यूएई में ट्रेड एग्रीमेंट किया। माना जा रहा है कि कुछ ही साल में दोनों देशों का व्यापार 15 अरब डॉलर तक पहुंच सकता है।

फायदा दोनों देशों को होगा
इजराइल के एग्रीकल्चर मिनिस्टर जेनुस्टर ने पिछले दिनों कहा था- राहत सुधरने का फायदा यूएई को बहुत होगा। हम यूएई को रेगिस्तान में खेती और खारे पानी को मीठा बनाने की तकनीक देंगे। ये वहाँ की दो मुख्य ज़रूरतें हैं। स्वास्थ्य, डिफेंस और टूरिज्म सेक्टर में हम काफी आगे बढ़ सकते हैं।

आप ये खबरें भी पढ़ सकते हैं …

1। मजबूत होती है दोस्ती: सऊदी अरब और यूएई समेत पांच खाड़ी देशों ने इजराइल से फोन हैकिंग सॉफ्टवेयर को जोड़ा, नेतन्याहू सरकार ने निजी कंपनी से सौदा किया

2। अमन की उम्मीद: इजराइल और यूएई के बीच ऐतिहासिक शांति समझौता; इजराइल की आजादी के 72 साल में किसी भी अरब देश से यह सिर्फ तीसरा समझौता है

0



Source link

By GAUTAM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *